अनानास के गुण, फायदे व नुकसान, औषधीय गुण, कब खाना चाहिए [Ananas (pineapple) fruit gun fayde (benefits), Side Effects in hindi]

अनानास जिसे हम अंग्रेजी में पाइनएप्पल भी कहते हैं। कई लोग ( किंग ऑफ़ फ्रूट ) भी कहते हैं । अनानास की सबसे ज्यादा खेती त्रिपुरा के राज्य में होती है । यह फल बहार से दिखने में कांटे दर होतें हैं लेकिन अंदर से बहुत ही रसीले और खट्टे-मीठे होते हैं । इन्हे हम अलग-अलग भाषाओं में अलग-अलग नामो से जानते हैं जैसे – हिंदी में अनानास , अंग्रेजी में पाइनएप्पल (pineapple) , तमिल में अनाशाप्पालाएम (anashappalaem) , तेलुगु में अनासाचेट्टु (anaasachettu) , आदि । अनानास फल के कई फायदे हैं जैसे इसमें विटामिन A और विटामिन B भरपूर मात्रा में रहता है लेकिन कई लोगों को अभी तक पता नहीं है । लेकिन चिंता मत कीजिये आज इस आर्टिकल में आपको अनानास से जुडी हर जानकारी मिलने वाली है ।

अनानास के औषधीय गुण (Pineapple medicinal benifit in Hindi)

अनानास के कई औषधीय गुण हैं और ये हमारे शरीर के लिए बहुत ही फायदेमंद है , इससे खाने से पेशाब की समस्या दूर हो जाती है , अपच के समस्या में भी ये फायदेमंद होते हैं , अनानास खाने से बुखार भी काम हो जाती है , खांसी को भी ठीक करने में ये बहुत ही असरदार होता है , सांसों के बीमारी को भी ये ठीक करने में मदद करता है , अगर जब आपको डायबिटीज है तो आपको इससे ज़रूर खाना चाहिए , और ये पेट के बिमारियों को भी ठीक करता है , आदि ।

अनानास का कैलोरी चार्ट

अनानास की मात्रा : 100 ग्राम

नुट्रीशियनमात्रा
बेसिक कंपोनेंट्स 
प्रोटीन.60 g
एनर्जी55 कैलोरी
कैलोरीज 
टोटल कैलोरीज210
कार्बोहाइड्रेट 
टोटल कार्बोहाइड्रेट15 g
शुगर10 g
फैट एंड फैटी एसिड्स 
टोटल फैट.15 g
विटामिन्स 
विटामिन्स A2%
विटामिन्स  C80%
विटामिन्स B67%
मिनरल्स 
आयरन2%
मैग्नीशियम5%
पोटेशियम4%

अनानास के लाभ  (Ananas Fruit Fayde)

हेल्थ सम्बन्धी फायदे (Health Benefits of Pineapple Fruit)

cancer me faydemand hai ananas –

कैंसर एक बहुत ही बड़ी बीमारी है जो की बढ़ती आबादी के साथ बड़ रहा है । 1 साल में लगभग 1.9 millon लोग इससे संक्रमित होते हैं । और हम इससे ठीककरने के लिए कई सर्जरी करवाते हैं । लेकिन अनानास में भी कुछ ऐसे यौगिक मौजूद होते हैं जो की कैंसर के कीटाणु से लड़ने में मदद करते हैं ।

पाचन मे सहायक –(helps in digestion)

आज के लाइफस्टाइल में कई लोगों को अपने सरीर का धियान रखने का समय ही नहीं मिलता और इस कारण कई लोगों में पाचन की परेशानी होती है । और सरीर को स्वस्त रखने के लिए पाचन का सही तरह से होना बहुत ही ज़रूरी है । अनानास में फोब्र्स मौजूद होते हैं इस कारण ये हमारे पाचन क्रिया में हमें सहायता करता है ।

अस्थमा मे सहायक 

अनानास का सेवन करने से कई बीमारियां से relief मिलता है । इसमें कई तरह के vitamins , protiens , potassium आदि । अनानास के रास में एक anzyme होते हैं जिससे हम ब्रोमेलेन के नाम से जानते हैं , यह अस्थमा से हमें रहत देता है और बलगम को तोड़ कर बहार निकल देता है ।

रक्तचाप मे सहायक 

रक्तचाप जिसे ब्लडप्रेशर के नाम से जाना जाता है . एक सर्वे के माध्यम से पता चला है कि पोटेशियम की मात्रा से रक्तचाप को नियंत्रित किया जा सकता है . अनानास मे पोटेशियम होता है . इसलिये अनानास का सेवन ब्लडप्रेशर के मरीजों के लिये बहुत ही अच्छा होता है .

हड्डियों की मजबूती के लिये सहायक 

हड्डियों की मजबूती के लिये पाइनएप्पल जूस बहुत ही अच्छा होता है, क्योकि इसमें सभी मिनरल्स और विटामिन की मात्रा होती है . यह ख़ास कर बच्चों को माहिलाओ जिनकी हड्डिया कमजोर होती है, उनके लिये बहुत लाभदायक है .

आखों के लिये उपयोगी 

पाइनएप्पल का सेवन चाहे फ्रूट चार्ट के रूप मे या जूस के रूप मे कैसे भी करे . यह आखों के लिये बहुत फायदेमंद है.

पथरी/स्टोन मे उपयोगी 

पाइनएप्पल एक प्राकृतिक औषधि के रूप मे उपयोग की जाती है . पथरी या किडनी स्टोन जिस के लिये पाइनएप्पल बहुत फायदेमंद रहता है . जिस भी व्यक्ति को स्टोन का प्रोब्लम हो वह प्रतिदिन एक पाइनएप्पल के चार से पांच पिस खाये या एक गिलास (बिना शक्कर के) पाइनएप्पल जूस पी सकता है .

सामान्य रोगों मे उपयोगी 

फल का निश्चित मात्रा मे सेवन बहुत ही उपयोगी सिद्ध होता है . उसी तरह सामान्य रूप से सर्दी–खासी,बुखार, गठिया जैसे रोग मे पाइनएप्पल का किसी भी रूप मे सेवन बहुत अच्छा माना जाता है .

इम्युनिटी पॉवर बढ़ाने मे सहायक 

इम्युनिटी पॉवर जिसे रोग प्रतिरोधक शक्ति कहा जाता है, जिसका संतुलन शरीर मे बना रहना बहुत आवश्यक है. यह बिगड़ने पर शरीर मे रोगों से लड़ने की क्षमता कम हो जाती है . जब कभी व्यक्ति अपनी क्षमता से अत्यधिक काम कर लेता तो उसे थकान महसूस होने लगती है या कमजोरी लगने लगती है . जूस और फ्रूट इसके लिये बहुत ही उपयोगी होते है और शरीर मे इम्युनिटी पॉवर बड़ाने मे मदद करते है .

वजन घटाने मे सहायक 

अनानास एक रसिला फल है, जिसमे प्रकृतिक मिठास होती है . इसके जूस या इसका फ्रूट चार्ट के रूप मे सेवन करने से शरीर मे कमजोरी महसूस नही होती है और इसे डाइट के रूप मे शामिल किया जा सकता है, जोकि वजन कम करने मे सहायक होता है .

स्किन सम्बन्धी फायदे (Skin Benefits of Pineapple Fruit)

स्किन और हेयर इनकी केयर सभी करते है, और केयर करना आवश्यक भी है . स्किन और हेयर दोनों के लिये फ्रूट्स और फ्रेश फ्रूट जूस बहुत इम्पोर्टेन्ट होते है| इनके सेवन से कई समस्याए खत्म हो जाती है और त्वचा मे निखार आता है .इसी के साथ शरीर को अन्दुरुनी और बाहरी दोनों और से स्वस्थ और निरोग बनाता है.

  • अनानास का रस सुबह नाश्ते मे बहुत लाभदायक है . इससे त्वचा पर निखार आता है . भरपूर विटामिन्स होने के कारण यदि फेस पर मुहासे,पिम्पल्स, या अन्य कोई त्वचा सम्बन्धी प्रोब्लम हो तो उसमे भी सुधार आता है .
  • अनानास के साथ आवले को मिक्स कर उसका जूस पिया जाये, जिसमे विटामिन सी भी होता है, जो आखों के लिये बहुत ही उपयोगी है . इसी के साथ आखों के नीचे के डार्कसर्कल भी कम होते है .
  • नेल्स के लिये विटामिन ए और बी बहुत आवश्यक होता है, जिसकी मात्रा अनानास मे होती है, इसके सेवन से नेल्स मे चमक आती है .

बाल सम्बन्धी फायदे (Hair Benefits of Pineapple Fruit)

  • बालों की ग्रोथ और मजबूती के लिए अनानास काफी अच्छा होता है इससे बालों में मजबूती बनी रहती है जिसके कारण बालों की ग्रोथ भी अच्छी होती है।
  • साथ ही आपके बालों में हुए डैंड्रफ को भी जड़ से खत्म करता है अनानास।
  • अगर हम इसके पोषण के बारे में बताए तो इससे आयरन, विटामिन ई और डी के गुण आपके बालों की सेहत के लिए काफी अच्छे हैं।
  • एक बार आप इस्तेमाल करेगें तो इसका इस्तेमाल करना दोबारा जरूर करेगे क्योंकि ये आपके बालों को कई तरह के लाभ जो देगा।

अनानास से हानिया (Ananas Fruit Loss)

ये तो प्रकृति का नियम है की अगर कोई चीज़ हमारे लिए लाभ दायक हैं और हम उसका ज्यादा मात्रा में सेवन करे तो वही चीज़ हमारे लिए हानिकारक हो जाता है । जैसे अनानास को ही ले लीजिये यह हमारे लिए बहुत ही फायदेमंद है लेकिन अगर जब हम उसका ज्यादा मात्रा में सेवन करे तो ये हमारे लिए नुकसानदायक बन जाती है, इसका ज्यादा सेवन करने से हमारे पेट में दर्द हो सकता है , ब्लड शुगर लेवल भी बढ़ जाता है , कुछ लोगों को एलेर्जे भी हो सकता है , आदि । अगर आप को मधुमेह (DIABETES) हो तो आपको अनानास नहीं खाना चाहिए क्यूंकि इसमें काफी मात्रा में सक्कर पाया जाता है जो की मधुमेह के मरीज़ों के लिए बहुत ही हानिकारक होता है ।

अनानास कब खाना चाहिए

अनानास एक बारी में किसी से भी नहीं खाया जाता। इसलिए इसे कई बारी में आप खा सकते हैं। क्योंकि इसको खाने से आपके मुंह में भी अजीब सी खराश सी होने लगती है। लेकिन इसे आप सुबह के समय खा सकते हैं, ब्रेकफास्ट खा सकते हैं।

अनानास के सेवन के तरीके

अनानास को उपयोग करने का सबसे पुराना तरीका है, जूस और फ्रूट चार्ट के माध्यम से, पर बदलते समय के साथ उसका रूप और उपयोग के तरीके भी बदल गये है, ख़ासतौर पर बच्चो के लिये जो अनानास पसंद नही करते वह अपने बच्चो या किसी को भी इसे कई तरीके से दे सकते है, जैसे – पाइनएप्पल केक, बिस्किटस, मफ्फिन्स , कूकीज़, जेम तथा सलाद, और भी अन्य रूप मे दे सकते है . पर ध्यान रहे एक निश्चित मात्रा में, उससे अधिक नही.

FAQ

Q : अनानास खाने का सही समय क्या है ?

Ans : अनानास आप ब्रेकफास्ट में खाएं आपके लिए काफी अच्छा होगा।Q : अनानास के बालों के फायदे क्या है ?

Ans : अनानास बालों में लगाने से बालों की ग्रोथ अच्छी होती है।Q : अनानास खाने से क्या-क्या फायदे होते हैं ?

Ans : अनानास खाने से आपका वजन कम होता है।Q : अनानास के औषधीय गुण क्या हैं ?

Ans : अनानास के औषधीय गुण हैं, पैशाब में जलन ना होना, बुखार कम होना आदि।Q : अनानास का सेवन किसके लिए अच्छा है ?

Ans : हड्डियों में दर्द, ब्रोंकाइटिस, साइनस आदि।

Previous articleHOW TO GET DUPLICATE RC BOOK ONLINE
Next articleHow to Change Billing address and Shipping address in Amazon Easily

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here