नमस्कार दोस्तों आशा करता हूं आप बिल्कुल ठीक होंगे आपका हार्दिक स्वागत है हमारे इस लेख में आज के इस लेख के मदद से हम कालीचरण महाराज कौन है, जीवनी इतिहास kalicharan maharaj history Age in hindi बारे में संपूर्ण जानकारी पूरे विस्तार से प्राप्त करने वाले हैं और इसके बारे में और समझने भी वाले हैं।

दोस्तों अगर आप सोशल मीडिया पर एक्टिव रहते हैं या न्यूज़ को देखते हैं तो आपको मालूम होगा कि कालीचरण महाराज अभी न्यूज़ के ट्रेंड में चल रहे हैं क्योंकि इन्होंने गांधीजी के विवाद में कुछ ऐसे शब्द कहा है जिसके लिए गांधीजी के सभी समर्थक इन पर आग बबूला हो चुके हैं मगर अभी भी कई सारे लोग ऐसे हैं।

 जो जानना चाहते हैं कि आखिर  कालीचरण महाराज कौन है और कालीचरण महाराज के परिवार में कौन-कौन है और कालीचरण महाराज ने अपनी शिक्षा कहां से पूरी की और कालीचरण महाराज को क्यों काली पुत्र कहा जाता है और कालीचरण महाराज की विवाद क्या रहे हैं तो इन सभी सवालों को जवाब देने के लिए हमने इस लेख को लिखा है और इस लेख में कालीचरण महाराज से जुड़ी सभी जानकारी को देने की कोशिश की है ।

और अगर आप सच में कालीचरण महाराज से जुड़ी सभी जानकारी को प्राप्त करना चाहते हैं तो आप से मेरा अनुरोध है कि आप मेरे इस लेख को ध्यान से पूरे अंत तक पढ़े तभी आपको मेरा या लेख अच्छे से समझ में आएगा तो चलिए शुरू करते हैं इसलिए को बिना देरी किए हुए।

अटल बिहारी वाजपेयी जीवनी | Atal Bihari Vajpayee biography in hindi

कालीचरण महाराज कौन है? (Kalicharan maharaj)

Video: Kalicharan Maharaj Biography and Age, Why Was He Arrested?

दोस्तों अगर आप यह जानना चाहते हैं कि महाराज कालीचरण कौन है तो आप हमारे इस टॉपिक के साथ बने रहे क्योंकि हम इस टॉपिक में बात करेंगे महाराज कालीचरण कौन है तो चलिए शुरू करते हैं इस टॉपिक को बिना देरी किए हुए हम आपकी जानकारी के लिए बता दें कि कालीचरण महाराज हमारे देश भारत के एक सन्यासी मनुष्य हैं, जो भारत के महाराष्ट्र के रहने वाले हैं।

दोस्तों क्या आपको मालूम है कि जब से उन की शिव तांडव वाले स्त्रोतम मंत्र का जाप करने वाला वीडियो इंटरनेट पर वायरल हुआ तब से ये बहुत काफी प्रसिद्ध हो गए और इनकी चर्चा लोगो मे है। कालीचरण महाराज मां काली और भगवान शिव के बहुत बड़े भक्त उन्हें ये अपना सब कुछ मनते हैं।

दोस्तों क्या आपको मालूम है कि जब महाराज कालीचरण छोटे थे तब उन का कहना है कि बचपन में जब इन की दूसरे मित्र यानी कि छोटे छोटे बच्चे देवी काली से और उनके प्रतिमा से डरते थे तब इन्होंने मां काली के प्रति स्नेह और भक्ति को विकसित करने में मन लगया था और इन्होंने अपने बचपन के उम्र से ही कई सारे तरह तरह के वेद और उपनिषदों का अध्ययन करना शुरू कर दिया और  इन्हें इन सभी चीज़ों के साथ साथ इन के वैदिक संगीत में काफी रुचि था।

इन्होंने अपने रुचि पर ध्यान दे कर के बिना किसी बात को सोचे समझे आगे बढ़ते गए।

बचपन से ही इन की आवाज में भी काफी मधुरता थी और इनकी मधुरता आवाज का मिठास आज भी है, जो इन की शिव तांडव मंत्र के जाप करने वाली वायरल वीडियो में आराम से देखा जा सकता है। और हम आपके जानकारी के लिए एक बात और बता दे कि कालीचरण महाराज ने छोटे के उम्र से ही ब्रम्हचारी बनने का फैसला कर लिया था और अपना पूरा जीवन भगवान के प्रति पूजा और भक्ति में समर्पित कर दिया है।

Nathuram Godse Biography in Hindi

कालीचरण महाराज की जन्म और परिवार के बारे में

इस टॉपिक में हम कालीचरण महाराज के परिवार और उनके जन्म के बारे में जानकारी प्राप्त करने वाले हैं तो आप हमारे टॉपिक के साथ अंत तक बने रहे तभी आपको मेरा यह टॉपिक अच्छे से समझ में आएगा तो चलिए शुरू करते हैं क्योंकि को बिना देरी किए हुए हम आपके जानकारी के लिए बता दें कि कालीचरण महाराज का जन्म भारत देश के महाराष्ट्र राज्य के अकोला जिले में एस्थित एक छोटे से जगह पर शाल 1973 में हुआ था।

चूंकि दोस्तों वो अकोला विदर्भ क्षेत्र में स्थित है, इसीलिए महाराज कालीचरण मध्यप्रदेश से काफी अधिक जुड़े हुए हैं। अगर हम उनके भाषा के बारे में बात करे तो उनकी भाषा में मराठी टच का महसूस होता है। और अगर हम कालीचरण महाराज के पिता जी के बारे में बात करे तो उनका नाम धनंजयराव है और उनकी  माता का नाम सुनीता देवी है । क्या आपको मालूम है कि कालीचरण महाराज जी को कई सारे जगह पर काली पुत्र के नाम से भी जाना जाता है।

कालीचरण महाराज का परिवार के बारे में बात करे तो इनका परिवार एक मध्यम वर्ग का परिवार है, इनके पिता भी आम आदमी है और इनकी माँ हाउस वाइफ है जिन्हें हमेशा से सही से दो वक्त का खाना इकट्ठा करने में भी बहुत समस्या होती थी। महाराज कालीचरण जी का परिवार की हालत बिलकुल अच्छी ना होने के कारण महाराज कालीचरण जी कुछ समय के लिए इंदौर ( यहा पर इनकी मैसी रहती थी ) अपनी मौसी के यहां रहने चले गए थे।

अगर हम इनके पिता के रोजगार के बारे में बात करे तो उन के पिता आज भी अकोला में किसी छोटे मेडिकल स्टोर में काम करते हैं। हालांकि इंटरनेट पर कालीचरण महाराज के परिवार से जुड़ी ज्यादा जानकारी उपलब्ध नहीं है और अगर आप ज्यादा रीसर्च करेंगें तो थोड़ी बहुत जानकारी मिलजाएँगी क्योंकि इन्होंने कोई भी जानकारी ज्यादा शेयर नहीं किया है। तो दोस्तों कुछ इस तरह से इन का परिवार है।

Sukesh Chandrasekhar Wiki, Height, Age, Wife, Girlfriend, Family, Biography & More

कालीचरण महाराज की शिक्षा दिक्षा के बारे मे

दोस्तों इस टॉपिक में हम महाराज कालीचरण के शिक्षा दीक्षा के बारे में जानकारी प्राप्त करेंगे तो चलिए शुरू करते हैं इस टॉपिक को बिना देरी किए हुए हम आपकी जानकारी के लिए बता दे कि

यह अभी तक स्पस्ट तौर पर तो नहीं कहा जा सकता है कि महाराज कालीचरण जी ने महाराष्ट्र के कौन से स्कूल या विद्यालय से अपनी शुरुवाती पढ़ाई  को प्राप्त किया है। हालांकि हमे ढेर सारे रीसर्च करने के बाद मालूम चला कि इन्होंने आठवीं क्लास तक ही अपनी पढ़ाई को पूरा किया है और उसके बाद इन्होंने अपने रुचि की ओर आगे बढ़ते हुवे अपनी पढ़ाई छोड़ दी क्योंकि आपको मैंने ऊपर बताया ही था कि इनका मन पूजा पाठ में शुरू से ही लगा था इसीलिए इन्होंने अपनी पढ़ाई छोड़ दिया।

फिर इन्होंने अपनी स्कूल की पढ़ाई छोड़ने के बाद कालीचरण महाराज घर पर ही रह कर हिंदू धर्म के ग्रंथों जैसे कि उपनिषद और वेदों और तरह तरह  का ज्ञान का अध्ययन करना शुरू कर दिया और इस मे इनका मन भी अछे तरह से लगता था। इन सभी चीज़ों के अलावा महाराज कालीचरण जी अन्य धार्मिक के किताबें को भी बड़े ही चाओ से पढ़ते थे।‌

कालीचरण महाराज को हिंदुत्ववादी विचार धारा वाला मनुष्य माना जाता है, जो कि महात्मा गांधी पर इन के द्वारा दिए गए कई बयान से स्पष्ट तौर पर दिखाई देता है।

Aurangzeb biography in Hindi – औरंगजेब की सम्पूर्ण जीवनी 

कालीचरण महाराज की पत्नी के बारे में

दोस्तों अगर आप कालीचरण महाराज के पत्नी से जुड़ी जानकारी को प्राप्त करना चाहते हैं तो कृपया करके आप हमारे इस टॉपिक के साथ अंत तक बने रहें क्योंकि हम इस टॉपिक में बात करेंगे कि क्या कालीचरण महाराज के पत्नी है या नहीं है तो चलिए शुरू करते हैं इस टॉपिक को बिना देरी किए हुए हम आपकी जानकारी के लिए बता दें कि कालीचरण महाराज ने अभी तक शादी नहीं किया है अगर आप हमारे ऊपर के टॉपिक को ध्यान से पढ़े होंगे तो आपको मालूम चल चुका होगा कि कालीचरण महाराज बचपन से ही ब्रह्मचार्य रहने का मन बना लिया था।

 क्योंकि इन्हें बचपन से ही पूजा पाठ करने का रुचि था और यह अपना पूरा ध्यान इसी में लगा दिए थे और बचपन में ही यह बात को तय कर लिया था कि आगे इन्हें जिंदगी में कभी भी शादी नहीं करनी है और यह जिंदगी भर ब्रह्मचारी रहेंगे। तो दोस्तों यह सवाल ही नहीं पैदा होता है कि कालीचरण महाराज की पत्नी है या नहीं है। तो चलिए दोस्तों अब हम अगले टॉपिक की ओर बढ़ते हैं और कालीचरण महाराज से जुड़ी और जानकारी को प्राप्त करते हैं।

कालीचरण महाराज जी का उम्र, Height, वजन के बारे में

दोस्तों इस टॉपिक में हम कालीचरण महाराज के वजन हाइट और उनके रंग और शरीर के बारे में थोड़ी बहुत विचार विमर्श करेंगे तो चलिए शुरू करते हैं इस टॉपिक को बिना देरी किए हुए हम आप को जानकारी के लिए बता दें कि अगर हम दोस्तो कालीचरण महाराज  की उम्र के बारे में अच्छे तरह से बात करें तो वे साल 1973 को इनका जन्म हुआ था ।

तो वे इसके हिसब से शाल 2022 को ये  लगभग 49 वर्ष के हो चुके हैं तो आप इस के हिसाब से कालीचरण महाराज जी का उम्र के बारे में समझ गए होंगे और अगर हम उनकी लंबाई की बारे में बात करे तो वे उनके उम्र के साथ ही उनकी height लगभग 5 फुट 8 इंच है और वजन फिलहाल में 65 से 70 kg. है. ( आप तो जानते ही कि  वजन का कोई सटीक नही बता सकते क्योंकि वो अपने वजन को घटा और बढ़ा सकते है  ) सलमान खान का रंग गोरा है तो कुछ इस तरह से इनका शरीर है।

क्यों कहा जाता है कालीचरण को काली पुत्र?

दोस्तों इस टॉपिक में हम जानेंगे कि आखिर कालीचरण महाराज को काली पुत्र कह कर के क्यों बुलाया जाता है। यह टॉपिक भी आपको थोड़ा अजीब लगेगा क्योंकि आप यही सोच रहे होंगे कि इनका नाम तो महाराज कालीचरण है तो इन्हें क्यों लोग काली पुत्र  कह कर के बुलाते हैं तो चलिए शुरू करते हैं इस टॉपिक को बिना देरी किए हुए हम आपके जानकारी के लिए बता दे कि कालीचरण महाराज जी को काली पुत्र कह कर इसलिए बुलाया जाता है।

क्योंकि की ऐसे में लोगों के अंदर यह जिज्ञासा जरूर होती है कि आखिर वो काली पुत्र अपने आप को क्यों कहते हैं, तो हम आप को बता दें कि इस बारे में खुद महाराज कालीचरण  ने हीं बताया है और।

उन्होंने कहा है कि एक बार वह किसी वाहन दुर्घटना का शिकार हो गए थे और उस वाहन दुर्घटना में उनका जो पैर था वह तकरीबन 90° तक पूरे बेकार तरह से घूम गया था परंतु क्या आपको मालूम है कि 1 दिन इनके सपने में माता काली ने कालीचरण महाराज को साक्षात दर्शन दिया और उन के ही अदृश्य शक्ति के प्रभाव से धीरे-धीरे आइस्त आइस्त कालीचरण महाराज  जी का पैर सही होने शुरू हो गया और कुछ दिन में ही सही होने के कगार पर पहुंच गया ।

और एक दिन उनका पैर पूरे तरह सर पहले केन जैसा ठीक हो गया और माता काली के इसी अदृश्य प्रभाव और  दैवीय चमत्कार से खुश  हो कर के महाराज कालीचरण ने माता काली को अपनी मां मान लिया और उन्हें माँ का दर्जा देने लगे और खुद को उनका बेटा मान लिया और अपने आप को माँ काली को समर्पित कर दिया।

दोस्तों कुछ इस प्रकार से  उन्होंने अपने आप को काली के पुत्र यानी कि  काली पुत्र कहना शुरू किया और आज यही नाम इनका निक नेम भी बन गया। दोस्तों अगर हम इनके बारे में विशेष तौर पर बात करें तो यह  कालीचरण महाराज नित्य पूजा का पाठ भी करते हैं और यह आमतौर पर माता काली की बहुत बड़े भक्त है तो माँ काली की पूजा करते हैं क्योंकि इन्होंने माँ काली जी को अपनी माता स्वीकार किया है।

कालीचरण महाराज पर विवाद के बारे में

दोस्तों इस टॉपिक में हम कालीचरण महाराज से जुड़ी कुछ विवाद के बारे में बात करेंगे तो चलिए शुरू करते हैं इस टॉपिक को बिना देरी किए हुए हम आपकी जानकारी के लिए बता दें कि महाराज कालीचरण के बारे में लोगों की उत्सुकता इस लिए बढ़ी है, क्योंकि कालीचरण महाराज ने कुछ दिनों पहले ही हमारे देश के जाने माने आदमी महात्मा गांधी पर एक ऐसा बयान दिया था जिस के वजह से हमारे देश भारत में बहुत बड़ा भूचाल आ गया।

क्या आपको मालूम है कि आमतौर पर गांधी जी से सभी कट्टर समर्थक इन के ऊपर पूरे तरह से आग बबूला हो गए। दोस्तों मैं आपको समझाने की कोसिसि करता हु दरअसल बात यह थी कि हमारे देश भारत के राज्य छत्तीसगढ़ के रायपुर जिले में धर्म संसद का एक बड़ा आयोजन किया गया था जिस में अन्य कई सारे अलग अलग जगह से साधु संतों के साथ ही साथ कालीचरण महाराज को भी निमंत्रण कर के उन्हें बुलाया गया था।

उस धर्म संसद में सभी को बारी-बारी अपनी मन की बात कहनी थी उसी धर्म के सांसद में जब महाराज कालीचरण जी की बोलने की बारी आई तो तो इन्होंने महात्मा गांधी जी के विरोध में जाकर के कुछ ऐसे शब्द का उच्चारण कर दिया या कहे तो कुछ ऐसे शब्द कह दिए जिनके बाद महात्मा गांधी जी के कट्टर समर्थक इन पर आग बबूला हो गए ।

दोस्तों उस धर्म संसद की बात करें तो उसमें महाराज कालीचरण जी ने कहा था कि नाथूराम गोडसे ने गांधी जी को मार कर के बिल्कुल सही काम किया है क्योंकि अपनी धर्म की रक्षा करने की सबको बराबर हक है।

बस यही वह बात था जिसके कारण कालीचरण महाराज पर आफत आनी शुरू हो गई और इन पर  F.I.R  दर्ज होने के बाद पुलिस को उन्हें मध्यप्रदेश के खजुराहो से गिरफ्तार करना पड़ा। हालांकि ऐसे लोगों की भी कमी नहीं है जिन्होंने कालीचरण महाराज के इस बात या कहे तो इनके बयान का समर्थन किया।

कालीचरण महाराज जी का समर्थन करने के लिए अब तो Twitter पर trained भी चलाया जा रहा है और Facebook पर भी कालीचरण महाराज के लिए समर्थन से मदद मांगा जा रहा है। तो दोस्तों कुछ इस प्रकार से कालीचरण महाराज को ले कर के गांधीवादी और हिंदूवादी आपस में पूरी तरह से भिड़े हुए हैं।

[ Conclusion, निष्कर्ष ]

दोस्तो आशा करता हूं कि आपको मेरा यह लेख कालीचरण महाराज कौन है, जीवनी इतिहास kalicharan maharaj history , Age in hindi आपको बेहद पसंद आया होगा और आप इस लेख की मदद से वह सभी जानकारी को पूरे विस्तार से जान चुके होंगे जिसके लिए आप हमारे वेबसाइट पर आए थे।

हमने इस लेख में सरल से सरल भाषा का उपयोग करके आपको कालीचरण महाराज से जुड़ी सभी जानकारी को देने की कोशिश की है क्योंकि हमें मालूम है कि कई सारे लोग ऐसे भी हैं जो जानना चाहते हैं कि आखिर कालीचरण महाराज कौन है और कालीचरण महाराज के परिवार में कौन-कौन है और कालीचरण महाराज ने अपनी शिक्षा कहां से पूरी की और कालीचरण महाराज को क्यों काली पुत्र कहा जाता है और कालीचरण महाराज की विवाद क्या रहे हैं। 

इन सभी जानकारी को देने के लिए हमने इस लेख को लिखा था और आप पर मेरा संपूर्ण विश्वास है कि आप सभी मेरे इस लेख को ध्यान से पूरे अंत तक पढ़ चुके होंगे और कालीचरण महाराज से जुड़ी सभी जानकारी को प्राप्त कर चुके होंगे।

अगर दोस्तों आपको इस पोस्ट में कहीं भी कोई भी किसी भी तरह को,पढ़ने में या किसी भी चीज में कोई भी दिक्कत हुई होगी तो आप हमारे कमेंट बॉक्स में बेझिझक कुछ भी सवाल पूछ सकते हैं।

हमारी समूह आपकी मैसेज के रिप्लाई जरूर देगी और आप यह भी कमेंट में जरूर बताएं कि यह पोस्ट कालीचरण महाराज कौन है, जीवनी इतिहास के बारे में जानकारी आपको कैसा लगा  ताकि हम आपके लिए दूसरे पोस्ट ऐसे ही लाते रहे। तो चलिए दोस्तों इसी जानकारी के साथ हम अब इस लेख को समाप्त करते हैं और अगर आपको हमरा यह पोस्ट को पढ़ने के लिए दिल से धन्यवाद………

Previous articleमनरेगा पशु शेड योजना 2022 (लाभार्थी सूची) | MGNREGA Pashu Shed Yojana in hindi
Next articleComputer या Laptop में Window कैसे install करे | How to install Window in computer or laptop in Hindi

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here