नमस्कार दोस्तों आशा करता हूं आप बिल्कुल ठीक होंगे आपका हार्दिक स्वागत है मेरे इस लेख में आज के इस लेख के मदद से Ramadan Festival In HIndi | मज़ान 2022 का महत्व, निबंध, इतिहासबारे में संपूर्ण जानकारी पूरे विस्तार से प्राप्त करने वाले हैं और इसके बारे में हम समझने भी वाले हैं।

आपको तो मालूम ही होगा कि हमारे देश भारत में आए दिन कई ऐसे बड़े बड़े पर्व आते रहते हैं और जाते रहते हैं उसी बड़ी त्यौहार में से एक देवहार रमजान भी है जो कि मुस्लिम समुदाय के लोगों द्वारा बड़े ही धूमधाम से मनाया जाता है और इसमें लोग बड़ी श्रद्धा और भक्ति से रोजा रखते हैं। यह त्यौहार कई दशकों से काफी बेहतरीन ढंग से मनाया जा रहा है और लोग भी इसे काफी खूबसूरती से मनाते हैं।

मगर आज भी कई सारे लोग ऐसे हैं जो जानना चाहते हैं कि आखिर रमजान क्या है रमजान के पीछे का इतिहास क्या रहा है रमजान को क्यों मनाया जाता है रमजान मनाने का महत्व क्या है 2022 में रमजान कब मनाया जाएगा रमजान के फायदे क्या क्या है तो  हम सभी ने आप सभी के इस सवाल का जवाब देने के लिए इस लेख को लिखा है।

और इस लेख में रमजान से जुड़ी सभी जानकारी देने की कोशिश की है अगर आप सच में रमजान से जुड़ी सभी जानकारी को प्राप्त करना चाहते हैं तो आप से मेरा अनुरोध है कि आप मेरे इस लेख को ध्यान से पूरे अंत तक पढ़े तभी आपको मेरा यह लेख अच्छे से समझ में आएगा तो चलिए शुरू करते हैं इस लेख को बिना देरी किए हुए और जानते हैं रमजान से जुड़ी सभी जानकारी को

रमज़ान क्या है – What is Ramadan in Hindi

Ramadan and its Benefits - IslamiCity

दोस्तों अगर आपके मन में यहां ख्याल है कि आप ही रमजान क्या होता है तो आप हमारे इस टॉपिक के साथ ऑन तो तक बने रहिए क्योंकि हम इस टॉपिक में आपको बताएंगे कि आखिर रमजान क्या होता है तो चलिए शुरू करते हैं इस टॉपिक को बिना देरी किए हुए हम आपकी जानकारी के लिए बता दें कि रमजान एक त्यौहार है जिसे मुस्लिम समुदाय के लोगों द्वारा बड़े ही धूमधाम से मनाया जाता है यह पावन पर्व उन लोगों के लिए काफी शुभ माना जाता है।

रमज़ान या रमदान (उर्दू – अरबी – फ़ारसी : رمضان) इस्लामी के कैलेण्डर का नवां महीना होता है । मुस्लिम धर्म के लोग इस महीने को परम पवित्र त्योहार मानते हैं । दोस्तों अगर हम रमजान शब्द के बारे में कुछ बात करे तो रमजान शब्द अरब से निकला है। यह आथार्थ यह एक अरबिक शब्द है जिसका मतलब है कि “चिलचिलाती गर्मी तथा सूखापन” यही इसका मतलब होता है ।

गाइस जैसे की हमने आपको पहले ही बताया है, की यह इस्लामिक कैलेंडर के अनुसार नौंवे महीने रमजान का मास यानी कि महीना होता है, जिस में प्रति वर्ष मुस्लिम धर्म के लोग द्वारा एक महीना तक रोजे रखे जाते हैं। इस्लामिक मान्यताओं और उसके ऐतिहासिक तथ्य के अनुसार यह महीना “अल्लाह से इबादत” का महीना होता है।

मान्यता है कि रमजान के त्योहार के अवसर पर दिल से अल्लाह कि बंदगी करने वाले हर एक व्यक्ति की सभी ख्वाहिशें भी पूरी होती है, रमजान के पावन मौके पर मुस्लिम धर्म के लोगो द्वारा पूरे महीने  श्रद्धा और भक्ति से रोजे रखे जाते हैं।रोजे रखने का अर्थ वास्तव में ” सच्चे दिल से अल्लाह के प्रति कृतज्ञता को काफी अच्छे ढंग से व्यक्त करना होता है।

हालांकि वे मुस्लिम धार्मिक के लोग जिन की इस दौरान तबीयत खराब हो जाती है, उनका उम्र अधिक या कम होती है, या वो अभी गर्भावस्था के होने तथा अन्य तरह के परेशानियां की वजह से वह रोजे रखने में जो असमर्थ हैं, उन्हें रोजे न रखने की अनुमति होती है।

क्योंकि ऐसा माना जाता है कि अल्लाह का कहना होता है कि वह जो भी काम करें वह अच्छे करें और उनका फल उन्हें जरूर मिलेगा। तो दोस्तों अब आप को समझ में आ गया होगा कि रमजान क्या है तो चलिए अगले टॉपिक की ओर बढ़ते है और रमजान से जुड़ी और जानकारी को प्राप्त करते है।

रमज़ान का महिना (Ramadan Month in hindi )

Ramadan 2021 Mubarak: Everything You Need to Know About The Holy Month

दोस्तों अगर आपके मन में या ख्याल है कि आखिर रमजान का महीना क्या होता है तो आप हमारे इस टॉपिक के साथ बने रहिए चलिए शुरू करते हैं इस टॉपिक को बिना देरी किए हुए हम आपकी जानकारी के लिए बता दें कि यह मुस्लिम संस्कृति ऐतिहासिक और पौराणिक का एक बहुत ही पावन महिना होता है, जिसके नियम बहुत कठिन और प्रेन्ददायक होते हैं, जो इंसान में सहन शीलता को बढ़ाते हैं। यह महीना काफी कठिन होता है मगर इससे वे लोग श्रद्धा और भाव से मनाते हैं और रोजा भी रखते हैं।

रमज़ान का पावन महिना बहुत ही पवित्र माना जाता हैं, यह इस्लामिक केलेंडर के थिक 9 वे महीने में आता हैं। मुस्लिम समुदाय में चाँद का महत्व काफी ज्यादा होता हैं। क्या आपको पता है कि  इस्लामिक कैलेंडर में चाँद के अनुसार इस पावन महीने के दिन बड़े खूबसूरत खूबसूरत गाने गाये जाते हैं, जो कि तकरीबन 30 या 29 तक का होते हैं, इस तरह इस महीना का ललगभग 10 दिन कम होते जाते हैं जिस से रमज़ान का महिना भी अंग्रेजी कैलेंडर के मुताबिक प्रति वर्ष लगभग 10 दिन पहले ही आता हैं।

रमज़ान के खूबसूरत महीने को मुस्लिम समुदाय के लोगो के द्वरा बहुत ही पावन माना जाता हैं। रमज़ान अपने कठोर नियमो और इस त्योहार की कानूनों के लिए पुरे दुनिया भर में जाना जाता हैं। रमज़ान के दिनों की चमक देखते ही काफी खूबसूरत बनती हैं।

पूरा महिना मुस्लिम समुदाय के इलाको में चमक – दमक और मौज मस्ति के साथ साथ शोर शराबा भी बहुत रहता हैं। सभी आपस में काफी प्रेम का भाव प्रकट कर के एक दूसरे से मिलते हैं। सभी मिया भाई लोग अपनी पुरानी गिले शिक्वे को भुला कर के सभी खुशी खुशी एक दुसरे को अपना मान कर रमज़ान का पावन महिना मनाते हैं और मौज करते है। तो दोस्तों अब आप को समझ में आ गया होगा कि क्या है रमजान का महीना तो चलिए अगले टॉपिक की ओर बढ़ते है और रमजान से जुड़ी और जानकारी को प्राप्त करते है।

15+ Food Business Ideas In Hindi | ज़बरदस्त खाद्य व्यापारों की लिस्ट 2022

रमजान क्यों मनाया जाता है

No iftar parties for political parties this Ramzan

दोस्तों इस टॉपिक के मदद से हम जाने वाले हैं कि आखिर रमजान क्यों मनाया जाता है तो आप हमारे टॉपिक के साथ अंत तक बने रहिए तभी आपको मेरा यह टॉपिक अच्छे से समझ में आएगा तो चलिए शुरू करते हैं इस टॉपिक को बिना देरी किए हुए हम आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इस्लाम समुदाय की ऐतिहासिक और पौराणिक  मान्यताओं के मुताबिक रमजान का महीना खुद पर नियंत्रण एवं  धीरज और शियम रखने का पावन महीना होता है।

अगर हम इसे सरल भाषा मे समझे तो रमजान के महीने में मुस्लिम धर्म के लोग द्वारा रोजे रखने का यह मेन कारण  है की “गरीबों के सभी तरह कर दुख दर्द को खुद से महसूस कर के उसे समझना“.

इस्लामिक धर्म के ऐतिहासिक मान्यताओं के अनुसार रमजान के महीने में रोजे रख कर आप पूरे जहान में रह रहे लगभग सव्ही गरीबों के दुख दर्द उनके मासूमियत को खुद के शरीर पर महसूस किया जाता है। रोजे के पावन महीने के दौरान संयम का तात्पर्य है कि कान, जुबान, आंख, नाक, को खुद पर नियंत्रण में रखा जाने के लिए है क्योंकि रोजे के दौरान बुरा न सुनना,  न बुरा बोलना, बुरा न देखना, और ना ही बुरा एहसास और महसूस किया जाता है।

तो गाइस कुछ इस तरह से रमजान के पावन और पवित्र महीने में रोजे मुस्लिम समुदाय को उन की अन्य धार्मिक श्रद्धा के साथ साथ लगभग सभी बुरी आदतों को छोड़ने के साथ ही आत्म संयम और खुद पर विस्वास रखना सिखाते हैं। इसके साथ ही यह भी मान्यता है कि गर्मी में कई तरह से रोजेदारों के पाप धूप की अग्नि में जल कर रख हो जाते हैं! तथा उनका पूरा मन पवित्र होता हो जाता है और सारे बुरे विचार रोजे के दौरान उनके मन से दूर हो जाते हैं।

तो दोस्तों अब आप को समझ में आ गया होगा कि रमजान क्यों मनाया जाता है तो चलिए अगले टॉपिक की ओर बढ़ते है और रमजान से जुड़ी और जानकारी को प्राप्त करते है।

साल 2022 में रमजान कब है (Ramadan 2022 Dates in hindi)

Ramadan 2021 Deals: Iftar Buffets, Sumptuous Suhoor & Weekend Getaways You  Must Grab NOW

दोस्तों मेरे हिसाब से आपके मन में यह ख्याल जरूर होगा कि आखिर रमजान को 2022 में किस तारीख को मनाया जाएगा और कब तक रोजा रखना पड़ेगा तो चलिए शुरू करते हैं इस टॉपिक को बिना देरी किए हुए हम आपकी जानकारी के लिए बता दें कि

इस साल 2022 में रमजान 3 अप्रैल को शुरू होकर लगभग 3 मई की शाम को ख़त्म होगी। तो दोस्तों अब आप को समझ में आ गया होगा कि रमजान को 2022 में किस तारीख को मनाया जाएगा तो चलिए अगले टॉपिक की ओर बढ़ते है और रमजान से जुड़ी और जानकारी को प्राप्त करते है।

रमजान का इतिहास?

दोस्तों इस टॉपिक में हम जानने वाले हैं कि आखिर रमजान के पीछे इतिहास क्या रहा है और रमजान को कई दशकों से क्यों मनाया जा रहा है तो चलिए शुरू करते हैं इस टॉपिक को बिना देरी किए हुए हम आपके जानकारी के लिए बता दें कि

इस्लाम समुदाय में रमजान के पावन महीने में रोजे रखने का प्रचलन काफी पुराना और ऐतिहासिक भी है इस्लामिक धर्म की कई सारे अलग अलग तरह के मान्यताओं के अनुसार मोहम्मद साहब (इस्लामिक पैगम्बर) को तकरीबन शाल 610 ईसवी में जब इस्लाम समुदाय ले लोगो की पवित्र किताब जिसका नाम  कुरान है उसे ही शरीफ का ज्ञान हुआ तो तब से ही रमजान महीने को उपयोग मुस्लिम धर्म के सबसे पवित्र और पावन महीना के रूप में इसे मनाया जाने लगा।

इस्लाम समुदाय के लिए इस इस माह के पवित्र होने का एक बहुत बड़ा मुख्य वजह यह भी है की कुरान के मुताबिक पैगंबर साहब को ( खुदा ) यानी कि अल्लाह ने अपने कुछ दूत के रूप में भी उन्हें चुना था। अतः यह महीना मुस्लिम धर्म के लगभग प्रत्येक शख्स के लिए यह विशेष एवं पवित्र और श्रद्धा का होता है जिस में सभी को रोजे रखना अल्लाह के अनिवार्य माना गया है।

तो दोस्तों कुछ इस तरह से ही रमजान का इतिहास रहा है। तो दोस्तों अब आप को समझ में आ गया होगा कि रमजान का इतिहास क्या रहा है तो चलिए अगले टॉपिक की ओर बढ़ते है और रमजान से जुड़ी और जानकारी को प्राप्त करते है।

रमजान कैसे मनाया जाता है?

Celebrating Iftar in Dubai's First Five-Star Hotel | Lifestyle – Gulf News

दोस्तों इस टॉपिक के मदद से हम जानने वाले हैं कि आखिर रमजान त्यौहार को किस तरह से मनाया जाता है अगर आप इसको जानना चाहते हैं तो मेरे इस टॉपिक के साथ अंत तक बने रहे तो चलिए शुरू करते हैं इस टॉपिक को बिना देरी किए हुए हम आपकी जानकारी के लिए बता दें कि

रमजान के पावन महीने में रोजे के दौरान मुस्लिम धर्म के लोगो द्वारा दिन भर में जलपान या भोजन का एक कत्रा भी ग्रहण नहीं किया जाता। और हम आपको एक बात और बता दे कि इसकी साथ ही इस दैरान अपनी लगभग सभी बुरी आदतों जैसे -सिगरेट, तम्बाकू, शराब का सेवन करना और किसी पर गन्दे निगाहे डालना और किसी के बारे में गलत सोचना या गलत काम करना सख्त मना होता है!

रोजे रखने वाले रोजेदारों या कहे तो उस शख्स के द्वारा सूर्य उगने से पहले अच्छे ढंग से भोजन खाया जाता है इस समय को मुस्लिम धर्म के लोगो के द्वारा सुहूर (सेहरी) के नाम से पुकारा भी कहा जाता है। जबकि दिन भर पूरे रीति रिवाजों से रोजा रखने के बाद सूर्य उदय यानी कि शाम को रोजेदारों द्वारा जिस भोजन को खाया जाता है उसे इफ्तार  का नाम दिया गया है।

रमजान के पवित्र महीने में रोजे करने वाले ब्यक्ति रोजे को अंत मे खजूर फल  खा कर के तोड़ते हैं, क्योंकि इस्लामिक के ऐतिहासिक मान्यताओं से कुछ ऐसा पता चलता है कि अल्लाह यानी कि खुदा ने अपने सभी दूत को अपना रोजा खजूर फल खा कर के खोलने को कहा गया था और  लगभग उसी वक़्त  से ही रोजे रोजा रखने वाले व्यक्ति इफ्तार एवं सेहरी में खजूर खाते हैं।

दोस्तों क्या आपको मालूम है कि इस के अलावा खजूर फल खाना सेहत के लिए भी फायदेमंद साबित होता है। कई सारे फल विसेसगयो के अनुसार खजूर फल हमारे पेट की कई तरह के  दिक्कतों, और लीवर एवं अन्य तरह के कई सारे कमजोरियों को तुरंत ठीक करने में मदद करता है, इसलिए शायद रोजे रखने वाले शख्स के द्वारा खजूर का सेवन किया जाता है।

गाइस रमजान का यह पावन और पवित्र महीना ईद-उल-फितर  त्योहार के साथ ही समाप्त होता है, जिसे आमतौर पर कई सारे लोगो द्वारा मीठी ईद भी कहा जाता है। यह दिन लगभग सभी मुस्लिम धर्म  के लोगों के लिए खुशी और मौज मस्ती का होता है, वे इस दिन में बहुत अच्छी अच्छी नए कपड़े पहन कर के अच्छे ढंग सर सज-धज के  ईदगाह में या मस्जिद में जाते हैं और वहा खुदा को नवाज अदा कर के शुक्रिया करते हैं, तथा आपस मे सभी गिला शिकवा भूल कर के गले लग कर एक दूसरे को बधाइयां देते हैं।

तो दोस्तों कुछ इस तरह से रमजान के त्यौहार को सभी मुस्लिम समुदाय के लोगों द्वारा मनाया जाता है। तो दोस्तों अब आप को समझ में आ गया होगा कि रमजान त्यौहार को किस तरह से मनाया जाता है तो चलिए अगले टॉपिक की ओर बढ़ते है और रमजान से जुड़ी और जानकारी को प्राप्त करते है।

रमज़ान के महीने का महत्व (Importance of Ramzan or Ramadan Festival in Hindi)

Ramadan – The Month of Holy Quran

दोस्तों इस टॉपिक में हम जानने वाले हैं कि आखिर रमजान का महत्व क्या है क्यों लोग इसे इतने मौज मस्ती से मनाते हैं और अपने अच्छे दिन की कामना करते हैं तो चलिए शुरू करते हैं इस टॉपिक को बिना देरी किए हुए हम आपकी जानकारी के लिए बता दें कि रमज़ान के त्योहार में लोगो में प्रेम और आपस मे एक साथ करने के और अल्लाह के प्रति अटूट विश्वास को जगाने के लिए ही मनाया जाता हैं।

साथ ही इस्लामिक धार्मिक के पुरानी और ऐतिहासिक रीति रिवाजो से लोगो को गलत कार्यों और गलत चीज़ों से दूर रखा जाता है, क्या आपको मालूम है कि साथ इस त्योहार में दी गई दान का काफी विशेष महत्व होता हैं।

जिसे इस्लामीक में जकात भी कहा जाता हैं। इस पावन दिन में किसी भी गरीबो में जा कर के जकात देना बहुत जरुरी होता हैं। दोस्तों साथ ही ईद के दिन भी ढेर सारे  लोगो फितरी भी  दी जाती हैं यह भी एक तरह का दान ही होती हैं जो कि लोग बहुत सौख से करते है।

यह था रमज़ान त्योहार का बहुत बड़ा महत्व मुस्लिम समुदाय में रमज़ान पर्व की बेहतर चमक देखते ही बनती हैं। साथ ही इसे पूरा मुस्लिम समाज एक साथ  मिल जुल कर करता हैं। इस्लाम समुदाय के मुताबिक मुसलमान का अर्थ  “मुसल-ए-ईमान” होता हैं यानी कि जिस का ईमान पूरे तरह सर पक्का हो जिस के लिए उन्हें कुछ तरह तरह के नियमों को समय के साथ अवश्य पूरा करना होता हैं तब ही वे असल मायने में मुसलमान कहलाने के लायक होते हैं और उनमें

  • अल्लाह के अस्तित्व में यकीन.
  • नमाज
  • रोज़ा
  • जकात
  • हज

यह सभी की सम्पूर्ण दायित्व अच्छी तरह से निभाने के बाद ही इस्लाम समुदाय के अनुसार वह व्यक्ति असली मुसलमान कहला सकता हैं और कहलाता भी है। और दोस्तों क्या आपको मालूम है कि रमज़ान को बरकती का महिना भी कहा जाता हैं।  ऐसा कहावत है कि इसको अच्छी ढंग से निभाने के बाद खुशियाँ एवम धन उनके यहाँ आता हैं साथ ही दोस्तों सभि के बीच एकता का भाव भी बढ़ता हैं आपसी बैर भी बहुत कम होते हैं।

हम आपके जानकारी के लिए बता दे कि रमज़ान भी एक ऐसा त्यौहार है, जो आपस मे एकता और प्रेम ही सिखाता हैं। दोस्तों रमजान के कुछ यही पावन महत्व है जिन्हें कई सारे लोगों द्वारा बड़े ही खुशी के साथ मनाया जाता है और लोग इसे मनाना काफी पसंद भी करते हैं।

तो दोस्तों अब आप को समझ में आ गया होगा कि रमज़ान के महीने का महत्व तो चलिए अगले टॉपिक की ओर बढ़ते है और रमजान से जुड़ी और जानकारी को प्राप्त करते है।

Top 20 Best Agriculture Business ideas in Hindi

रमज़ान मनाने के फायदे

दोस्तों इस टॉपिक में हम जानने वाले हैं कि आखिर रमजान मनाने के फायदे क्या क्या है तो चलिए शुरू करते हैं इस टॉपिक को बिना देरी किए हुए हम आपकी जानकारी के लिए बता दें कि रमजान त्योहार मनाने के बहुत सारे फायदे हैं।

रमजान मनाने का सबसे बड़ा फायदे में से एक यह है कि इसमें आपसी मामले में काफी प्रेम बढ़ता है और लोग अपनी सभी पुराने गिले-शिकवे बातें को भूल कर के एक साथ एकजुट होकर के इस त्योहार को बड़े ही धूम धाम से मनाते हैं। अगर हम रमजान के दूसरे फायदे के बारे में बात करें तो रमजान में रोजा करने से लोगों की सहनशक्ति बढ़ती है और लोग गरीबो की दर्द को महसूस कर सकते हैं।

 और रमजान में रोजा करने से इन सभी लोगों की पुरानी और बुरी आदतें छूट जाती है और लोग सच्चाई के रास्ते को अपनाने में सफल रहते हैं और इन सभी के अंदर प्रेम और स्वभाव की भावना उत्पन्न होती है। क्या आपको मालूम है कि इतिहास और इस्लामिक तथ्यों के अनुसार रमजान में रोजा करने से खुदा और शख्स के बीच ना टूटने वाली रिश्ता बनती है। तो कुछ यही रमजान मनाने के फायदे है।

Business Tips In Hindi | 2022 के कुछ ज़बरदस्त बिज़नेस टिप्स

 [ Conclusion, निष्कर्ष ]

दोस्तो आशा करता हूं कि आपको मेरा यह लेख रमज़ान 2022 का महत्व, निबंध, इतिहास | Ramzan or Ramadan 2022 Festival In Hindi आपको बेहद पसंद आया होगा और आप इस लेख के मदद से वह सभी जानकारी को पूरे विस्तार से समझ चुके होंगे जिसके लिए आप हमारे वेबसाइट पर आए थे।

हमने इस लेख में सरल से सरल भाषा का उपयोग करके आपको रमजान से जुड़ी सभी जानकारी स्टेप बाय स्टेप बताने की कोशिश की है क्योंकि हमें मालूम है कि कोई सारे लोग आज भी हैं जो जानना चाहते हैं कि आखिर रमजान क्या है रमजान के पीछे का इतिहास क्या रहा है रमजान को क्यों मनाया जाता है रमजान मनाने का महत्व क्या है 2022 में रमजान कब मनाया जाएगा रमजान के फायदे क्या क्या है तो  हम सभी ने आप सभी के इस सवाल का जवाब देने के लिए इस लेख को लिखा है।

और इस लेख में रमजान से जुड़ी सभी जानकारी देने की कोशिश की है। और आप सभी पर मेरा संपूर्ण विश्वास है कि आप सभी मेरे इस लेख को ध्यान से पूरे अंत तक पढ़ चुके होंगे और रमजान से जुड़ी सभी जानकारी को प्राप्त कर चुके होंगे।

अगर दोस्तों आपको इस पोस्ट में कहीं भी कोई भी किसी भी तरह को,पढ़ने में या किसी भी चीज में कोई भी दिक्कत हुई होगी तो आप हमारे कमेंट बॉक्स में बेझिझक कुछ भी सवाल पूछ सकते हैं।

हमारी समूह आपकी मैसेज के रिप्लाई जरूर देगी और आप यह भी कमेंट में जरूर बताएं कि रमज़ान 2022 का महत्व, निबंध, इतिहास | Ramzan or Ramadan 2022 Festival In Hindi पर यह पोस्ट लगा  ताकि हम आपके लिए दूसरे पोस्ट ऐसे ही लाते रहे। तो चलिए दोस्तों इसी जानकारी के साथ हम अब इस लेख को समाप्त करते हैं और अगर आपको हमरा यह पोस्ट को पढ़ने के लिए दिल से धन्यवाद………

Business Ideas In Hindi | 101+ Latest Business Ideas 2022

Previous articleAnkhon ke Dark Circles kaise hataye | आँखों के काले घेरे हटाने का घरेलू उपाय (2022)
Next articleGangaur Festival in Hindi | गणगौर त्यौहार 2022 का महत्त्व, पूजा विधि, कथा व गीत