नमस्कार दोस्तों कैसे हैं आप लोग आशा करता हूं आप बिल्कुल ठीक होंगे आपका हार्दिक स्वागत है हमारे इस लेख में आज के इस नए लेख के मदद से हम सेव खाने के फायदे और नुकसान (Apple health benefits and Side Effects in Hindi) के बारे में संपूर्ण जानकारी पूरे विस्तार से प्राप्त करने वाले हैं और इसके बारे में जानने भी वाले हैं।

क्योंकि दोस्तों बहुत सारे लोग ऐसे हैं जो सेव फल का सेवन करते हैं लेकिन वह नहीं जानते हैं कि सेव खाने के फायदे और नुकसान क्या क्या होते हैं। 

दोस्तों इस लेख में हम लोगों जानेंगे कि सेव क्या है और सेव का किस किस चीज में उपयोग किया जाता है इसके अलावा हम लोग इस आर्टिकल में पूरा विस्तार से जानेंगे कि सेव खाने के फायदे क्या क्या होते हैं और सेव खाने के नुकसान क्या क्या होते हैं और इसके अलावा इस आर्टिकल में हम लोग यह भी जानने की कोशिश करेंगे कि सेव को उपयोग किस प्रकार से किया जाता है।

इसके अलावा हम लोग इस आर्टिकल के अंत में बात करेंगे कि क्या रोज सेव का सेवन करना चाहिए और सेव में कौन कौन सा पोषक तत्व पाया जाता है तो यदि आपकी इन सारी जानकारियों के बारे में एक कुछ भी नहीं जानते हैं और आप सेव को सेवन करना चाहते हैं ।

तो कृपया आप हमारे इस आर्टिकल को पूरा अंत तक जरूर पढ़ें  क्योंकि इस आर्टिकल में हमने सेव से जुड़ी सभी जानकारियों को पूरा आसान से आसान और सरल से सरल भाषा में समझाया है तो दोस्तों बिना कोई देरी के चलिए शुरू करते हैं आज के इस नए लेख को और जानते हैं कि सेव खाने के फायदे और नुकसान क्या होते हैं।

निम्बू के फायदे और नुकसान | Lemon Health Benefits in Hindi

सेब का परिचय (Introduction of Apple)

Apple Fruits, varieties, production, seasonality | Libertyprim

दोस्तों अक्सर हम रोजमर्रा के खानपान में सेव फल का सेवन करते हैं क्योंकि बहुत सारे लोगों के द्वारा और डॉक्टरों के द्वारा भी यह सलाह दिया जाता है कि रोज एक सेब खाने से हम सेहतमंद रहेंगे और डॉक्टर के पास जाने की जरूरत नहीं होगी ।

इसका कारण यह है कि इससे उन्हें बहुत सारे ऐसे पोषक तत्त्वों पाए जाते हैं जो कि हमारे शरीर और स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद होते हैं इसके अलावा आप सेव का इस्तेमाल औषधि के रूप में भी कर सकते हैं? क्योंकि बहुत सारे लोगों को ठीक करने के लिए सेव का प्रयोग किया जाता है।

सेव का जूस लोगों द्वारा काफी पसंद किया जाता है और इसे सभी लोग पीते हैं  यह बाजार में भी मिलता है लेकिन घर पर निकाला गया सेव का जूस काफी फायदेमंद होता है क्योंकि इसमें कोई भी मिलावट नहीं होती है और यह पूरी तरह से  पोषक तत्व से भरा होता है आयुर्वेद में सेव के बहुत सारे फायदे बताए गए हैं और यह भी बताया गया है कि सेव के सेवन करने से किस किस बीमारियों से दूर बचा जा सकता है।

इसीलिए बहुत सारे डॉक्टर और विशेषज्ञ सेव फल का सेवन करने की सलाह देते हैं और अक्सर डॉक्टर के द्वारा ऐसा बताया जाता है की ऑपरेशन है या कोई सैलरी करने के बाद सेव का सेवन करना काफी फायदेमंद होता है।

पपीता खाने के फायदे और नुकसान | Papaya health benefits and Side Effects in Hindi (2022)

सेब क्या है? (What is Apple?)

3D Apple Fruit - TurboSquid 1762979

दोस्तों यदि आपको नहीं पता है कि सेव  क्या है और कैसा होता है तो हम आपको बता दें कि सेव सेब हरे या लाल रंग का देखने वाला फल है, जो विटामिन और अन्य बहुत सारे पोषक तत्व से भरपूर होता है। वैज्ञानिक भाषा में इसे ‘मेलस डोमेस्टिका’ (Melus domestica) कहते हैं। अक्सर भारत में  सेब का पेड़ लगभग 3 से 7 metre तक ऊंचा देखा जाता है। सेव की छाल छाल भूरे रंग की होती है।

और सेव के फूल गुलाबी से सफेद रंग या खून के रंग के होते हैं। और इसके अलावा सेव के फल मांसल और लगभग गोलाकार होते हैं। और अक्सर काची आस्था में सेव हरे रंग का दिखा जाता है और स्वाद में खट्टा लगता है और वही पक जाने के बाद यह फल लाल रंग का हो जाता है और स्वाद में मीठा लगता है सेव फल का बीज छोटा होता है और काले रंग का होता है तथा वह थोड़ा चमकीला भी होता है।

इस फल को सेवन करने से  काफी सारी बीमारियों से निजात मिलता है क्योंकि इस सेव फल में बहुत सारे विटामिंस और मिनरल्स पाए जाते हैं जो कि हमारे शरीर और हमारे स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद होते हैं यही कारण है कि डॉक्टर और विशेषज्ञों द्वारा इस फल को सेवन करने के लिए जरूर बोला जाता है।

और खासकर तब जब कोई ऑपरेशन करवाया हो या किसी प्रकार के सर्जरी करवाई हो उस अवस्था में सेव फल को खाना है काफी फायदेमंद होता है। क्योंकि इससे फल का सेवन करने से हमारे शरीर में संपूर्ण मात्रा में पोषक तत्व और  विटामिन की आपूर्ति होती है जिससे हम स्वस्थ और तंदुरुस्त होते हैं।

खूबानी के बीज पत्ती जूस और उसके फ़ायदे | Apricot fruit Juice, Leaves, Seeds health skin hair benefits in hindi

सेब के पौष्टिक तत्व (Apple Nutritional Value in Hindi)

दोस्तों यदि हम बात करें कि सेव में कौन-कौन से पोषक तत्व और विटामिंस पाए जाते हैं तो हम आपको बता दें कि सेवा मे 85.56 gm पानी  पाया जाता है और  52 kcal ग्रामऊर्जा, प्रोटीन 0.26 ग्राम, 0.17 ग्राम ग्रामफैट,  और इसके अलावा 13.81 ग्राम ग्रामकार्बोहाइड्रेट की मात्रा रहती है और  2.4 ग्राम ग्रामफाइबर, 10.39 ग्राम ग्रामशुगर ।

और इसके अलावा  6 मिलीग्राम  ग्राममिनरलकैल्शियम, और 0.12 मिलीग्राम आयरन, और 5 मिलीग्राम मिलीग्राममैग्नीशियम, 11 मिलीग्राम मिलीग्रामफास्फोरस और इसके अलावा सेव में और भी बहुत सारे विटामिन पाए जाते हैं जिनमें मिलीग्रामपोटैशियम, मिलीग्रामसोडिय, मिलीग्रामजिंक, मिलीग्रामविटामिनविटामिन सी, मिलीग्रामराइबोफ्लेविन, मिलीग्रामनियासिन, मिलीग्रामविटामिन-बी, माइक्रोग्रामविटामिन-ए, माइक्रोग्रामविटामिन-ए, आईयूविटामिन ई मिलीग्रामविटामिन-के इत्यादि जैसे तत्व पाए जाते हैं  जो कि हमारे स्वास्थ्य के लिए काफी लाभकारी होते हैं ।

दोस्तों को इसके अलावा आप से हमें और भी बहुत सारे तत्व पाए जाते हैं लेकिन उनकी मात्रा थोड़ी कम होती है।

लीची फल बीज रस के फ़ायदे व नुकसान | Lychee Fruit, Seed, Juice health skin hair benefits side effects in hindi

सेब के फायदे (Apple Benefits in Hindi)

Turkish fruit producers get green light from Thailand's $210M apple market  | Daily Sabah

दोस्तों इस टॉपिक में हम लोग बात करने वाले हैं कि सेब के फायदे के बारे में कि सेब खाने से क्या-क्या फायदा होता है और यह फल हमारे किस बीमारी को खत्म करता है दोस्तों आप बहुत लोगों से सुनते होंगे कि सेव खाने के बहुत सारे फायदे होते हैं लेकिन क्या आपको पता है कि सेव खाने की असल में फायदे क्या क्या होते हैं और आप इस फल को रोजाना सेवन करते हैं तो आपको इसके बारे में जरूर जाना चाहिए ।

यदि आप नहीं जानते हैं कि सेव के क्या-क्या फायदे होते हैं तो इस टॉपिक में हम लोग विस्तार से बताने वाले हैं कि सेव खाने के फायदे के बारे में जानेंगे तो कृपया आप हमारे इस टॉपिक को पूरा ध्यान से पढ़ें तो चलिए शुरू करते हैं इस टॉपिक को और जानते हैं की सेव खाने के फायदे क्या होते हैं।

दोस्तों जैसा कि हम लोग जानते हैं कि सेब फल में पोषक तत्त्वों काफी भरपूर मात्रा में पाई जाती है, और यही वजह है कि ज्यादातर डॉक्टर और स्वास्थ्य विशेषज्ञ रोज एक सेब खाने की सलाह देते हैं। काफी सारे लोग सेब का जूस पीना पसंद करते हैं क्योंकि सेब का जूस काफी स्वादिष्ट लगता है।

आयुर्वेद के अनुसार, सेब फल त्वचा रोग, दिल का दौरा, बुखार, जलन, और कब्ज की परेशानी में लाभ पहुंचाता है। इसके अलावा सेव मानसिक विकार, बुखार, एसिडिटी, high blood pressure के साथ-साथ पेचिश में भी काफी  ज्यादा फायदेमंद होता है।

और इसके अलावा सेब का सेवन बदहज़मी, कमजोरी, सांसों की बीमारी में भी काफी ज्लाभदायक होता है। यह सेवा फल ल्यूकोरिया, दांतों की बीमारी, पथरी, गठिया, खून की कमी को दूर करता है। आइये सेब के फ़ायदों के बारे में विस्तार से जानते हैंः-

Parsley क्या है Parsley के फायदे और नुकसान

दांतों के रोग में सेब के फायदे (Apple Benefits to Cure Dental Disease in Hindi)

दोस्तों क्या आपको पता है कि इस सेव खाने से हमारे दांत भी स्वस्थ रहते हैं क्योंकि सेब को चबाकर खाने से लार अधिक मात्रा में बनता है, जो हमारे मुंह की साफ-सफाई करने के अलावा बैक्टीरिया और कीटाणु को पनपने से भी रोकती है।

इसलिए हम यह भी कर सकते हैं कि सेव का सेवन करने से हमारा दांत और मसूड़े स्वस्थ रहता है।

आंखों की रोशनी बढ़ाने के लिए सेब का प्रयोग (Benefits of Apple in Eye Disease Treatment in Hindi)

हम आपको बता दे की सेब फल में एंटी-ऑक्सीडेंट, विटामिन-सी, विटामिन-बी और  फाइबर, भरपूर मात्रा में पाया जाता है। जो कि  सेव के नियमित उपयोग से रात को कम दिखाई देने की परेशानी यानी की Nightblindness में लाभ होता है।

इसके अलावा आंखों की और भी बहुत सारी परेशानियों के लिए सेव का नियमित सेवन काफी ज्यादा फायदेमंद होता है इसके अलावा सेवकों की अन्य परेशानियां जैसे कि ग्लूकोमा, मोतियाबिंद, आदि से भी बचाव करता है। सेब को पीसकर, और पकाकर अपने आँखों में बांधने से आँखों की बीमारियां निजात पाने में सहारा मिलता है।

सेब के गुण से खांसी में लाभ (Apple Uses in Fighting with Cough in Hindi)

दोस्तों क्या आप जानते हैं कि सेव का सेवन करने से हमारा खांसी में भी काफी फायदेमंद होता है क्योंकि सेब का नियमित रूप से सेवन करने से खांसी भी ठीक हो सकता है।  सेव का सेवन करने के लिए आप रोजाना एक गिलास सेब का रस निकाल लें। इसमें मिश्री मिलाकर सुबह के समय पिएं। इससे आपको खांसी से निजात मिलेगा और कुछ ही समय में आपकी खांसी पूरी तरह से ठीक हो जाएगी।

इसके अलावा इससे बेहोशी की समस्या में भी काफी ज्यादा फायदा होता है यदि आपको सुखा खांसी है तो आपको सेव का सेवन आवश्यक चाहिए। सूखी खांसी से छुटकारा पाने के लिए आप रोजाना पके हुए मीठे सेब खाने चाहिए। इसे आप को सुखा खांसी से निजात पाने में काफी सहायता मिलेगा।

पाचनतंत्र को मजबूत बनाने के लिए करें सेब का उपयोग (Apple Benefits for Indigestion in Hindi)

नियमित रूप से सेब का सेवन करने से पेट के रोग ठीक होते हैं। इसके लिए आप 7 दिन तक सोते समय कम से कम दो सेब जरूर खाएं । इससे पेट के कीड़े मर जाते हैं और बाद में पेट के कीड़े मरकर मल के साथ बाहर आ जाते हैं।

दोस्तों हम आपको बता दें कि ही रात को समय सेव खाने के बाद आप पानी बिलकुल ना पिए  क्योंकि खाली पेट सेब खाने से कब्ज की समस्या दूर होती है इसके अलावा सुबह के समय भी छिलके सहित सेव खाने से कब्ज की समस्या दूर होती है। तो इस प्रकार सेब का नियमित रूप से सेवन करके आप अपनी पाचन तंत्र को मजबूत बना सकते हैं और अपनी कब्ज की समस्या को भी दूर कर सकते हैं।

भांग के बीज के फायदे और नुकसान | Benefits and Side effects of Hemp Seeds in Hindi

पेट के रोगों में लाभकारी सेब का सेवन (Apple is Beneficial for Abdominal Disease in Hindi)

दोस्तो हम आपको बता दें कि सेव फल पेट कई लोगों के लिए काफी ज्यादा फायदेमंद होता है।  क्योंकि सेव फल में टार्टरिक नामक एक एसिड पाया जाता है और सेब में टार्टरिक एसिड होने के कारण यह भोजन को काफी जल्दी पचाने का काम करता है।

इसके अलावा यह अपने साथ अन्य आहार को भी पचा देता है इसके साथ ही साथ सेब के मुरब्बे का सेवन करने से हमारे आमाशय-संबधी रोगों में भी काफी ज्यादा लाभ होता है।

तो यदि आप सेव का सेवन करते हैं तो सेव आपके पेट के रोगों के लिए भी काफी फायदेमंद हो सकता है इसीलिए यदि आपको पेट से जुड़ी कोई रोग है तो आप सेव का नियमित रूप से सेवन अवश्य करें।

आंतों के रोगों में सेब के सेवन से लाभ (Uses of Apple for Intestinal Disease in Hindi)

दोस्तों हम आपको बता दें कि सेब के नियमित रूप से सेवन करने से प्यास खत्म होती है और इसके अलावा आंत स्वस्थ भी स्वस्थ बनते हैं  क्योंकि सेब में आंवयुक्त पेचिश मिटाने का गुण होता है, इसलिए सेव फल को फोन करके खाने से हमारे आंतों के रोगों के लिए भी काफी फायदेमंद होता है ।

तो यदि आपको आंतों के रोगों है या आंतों से जुड़ी कोई भी परेशानी है तो आप सेव फल का सेवन कर सकते हैं सेव फल के नियमित रूप से सेवन करने से आपका यह परेशानी दूर हो सकता है। इसलिए आप अपने आंतों के समस्याओं को दूर करने के लिए नियमित रूप से सेव का सेवन अवश्य करें।

उल्टी बंद करने के लिए करें सेब का इस्तेमाल (Apple Benefits to Stop Vomiting in Hindi)

दोस्तों क्या आपको पता है कि सेव का सेवन करने से आप उल्टी परेशानियों को भी दूर कर सकते हैं  इसके लिए आप 5-15 मिली मात्रा में रस जरूर पिए  इससे आपकी उल्टी को बंद करने में काफी फायदा होगा।

तो यदि आप उल्टी की  समस्या से परेशान है तो भी आप सेव फल का सेवन कर सकते हैं इसीलिए आप इस परेशानी को दूर करने के लिए नियमित रूप से सेव के जूस का सेवन जरूर करें।

सेब के प्रयोग से खूनी पेचिश की रोकथाम (Apple benefits to Stop Dysentery in Hindi)

दोस्तों क्या आप जानते हैं कि सेब का शर्बत मिलाकर पीने से खूनी पेचिश में लाभ होता है। यदि आप नहीं जानते हैं तो हम आपको बता दें कि पोस्त के दानों से बने काढ़ा में सेब का शर्बत मिलाकर पीने से खूनी पेचिश में लाभ होता है। तो इसके लिए भी आप सेव का शर्बत का सेवन कर सकते हैं यह आपके लिए काफी फायदेमंद होगा

संतरे के फल, जूस के सेवन करने के फायदे और नुकसान 

सेब के उपयोग से त्वचा रोगों में फायदा (Uses of Apple for Skin Disease in Hindi)

हम आपको बता दें कि इस सेव फल हमारे त्वचा के लिए भी काफी फायदेमंद होता है यदि आप सेब के पत्तों को पीसकर उसका लेप बनाकर  अपने त्वचा पर लगाते हैं तो आपकी त्वचा काफी सारे त्वचा रोगों बच सकती है इसके लिए  आप सेव को पीसकर उसका लेप बनाकर अपने त्वचा पर लगा सकते हैं और इसके अलावा सेब के वृक्ष की जड़ को पीसकर दाद-खाज-वाले स्थान पर लगा सकते हैं यह भी आपके  लिए फायदेमंद हो सकता है।

 सेव ना सिर्फ आपके त्वचा को रोगों ठीक करने का काम करता है बल्कि यह आपके त्वचा के लिए एक बेहतरीन फेस पैक के रूप में भी काम करता है। इसलिए हम आपको बताना चाहेंगे कि दोस्तों आप फेस पैक के रूप में प्रयोग करने  से पहले किसी आयुर्वेदिक विशेषज्ञ से इसके बारे में सलाह जरूर लें।

सेब का गुण जलन से राहत दिलाता है (Importance of Apple in Skin Burning in Hindi)

 कई बार ऐसा होता है कि खाना बनाने के वक्त या फिर  गर्म पानी से या फिर बिजली के किसी उपकरण से हमारा शरीर या हाथ जल जाता है जिसके वजह से हमें काफी जलन महसूस होने लगता है और उसके बाद त्वचा पर फफोले हो जाते हैं, जो काफी जलन देते हैं और साथ ही साथ हाथों को काफी तकलीफ देते हैं ऐसे में यदि सेव के पत्ते को पीसकर जले हुए स्थान पर लगाया जाए ।

तो जलन कम हो सकता है और फिर जलन से राहत मिल सकता है क्योंकि सेव का पता जलन को कम करने में काफी ज्यादा सहायक होता है तो इस प्रकार से यदि ऐसा कभी आपके साथ भी हो तो आप सेव के पत्ते को पीसकर अपनी त्वचा पर लगा सकते हैं यह आपके लिए काफी फायदेमंद हो सकता है।

रोगभ्रम से दिलाए छुटकारा (Importance of Apple in Hypochondria in Hindi)

दोस्तों सबसे पहले हम आपको बता दें कि रोगभ्रम उस स्थिति को कहते हैं जिसमें किसी व्यक्ति को रोगग्रस्त होने का भ्रम हो जाता है।  जिस व्यक्ति को यह रोगग्रस्त होता है वह व्यक्ति अपने शरीर के किसी अंग में कोई रोग की कल्पना करने लगता है, या फिर वह व्यक्ति किसी रोग के बारे मे चिंता करने लगता है।

दोस्तों हम आपको  जानकारी के लिए बता दें कि रोगभ्रम को इंग्लिश भाषा में Hypochondriacs कहते हैं। और इसके अलावा आयुर्वेद में इस रोगभ्रम को ‘पित्तोन्माद’ कहा जाता है।

रोगभ्रम के रोग को दूर करने के लिए और इस रोग से निजात पाने के लिए सेब के शर्बत में ब्राह्मी-चूर्ण मिलाकर पिएं। इससे आपको इस रोगभ्रम की स्थिति से निकलने में काफी लाभ होता है और यह आपके लिए काफी फायदेमंद हो सकता है  तो इस प्रकार से आप  सेव के सेवन करके अपने इस रोगभ्रम की समस्या को दूर कर सकते हैं।

खरबूजे के फायदे, उपयोग और नुकसान क्या आप जानते हैं |Muskmelon Benefits, Use and Side Effects in Hindi

दिमागी कमजोरी दूर करता है सेब (Apple Benefits for Mental Health in Hindi)

अक्सर डॉक्टर के द्वारा सेव खाने की सलाह दी जाती है क्योंकि इससे सेव हमारे दिमाग की कमजोरी को दूर करता है और हमारे दिमाग को  तेज करता है क्योंकि सेब का मुरब्बा खाने से दिमाग तथा हृदय काफी ज्यादा मज़बूत होता है। 

क्योंकि सेब फल दिमागी कोशिकाओं को स्वस्थ बनाने का काम करता है। अगर आप एक विद्यार्थी है तो आपको सेव का सेवन जरूर करना चाहिए क्योंकि सेव का सेवन करने से विद्यार्थियों के लिए सेब दिमागी शक्ति और स्मरण शक्ति बढ़ाने का आसान स्रोत है। तो इस प्रकार से सेव का नियमित रूप से सेवन करने से आप अपने दिमाग को भी तेज कर सकते हैं इसीलिए आप सेव का सेवन नियमित रूप से जरूर करें।

सेब के औषधीय प्रयोग से बिच्छू का ज़हर भी उतरता है (Apple Helps in Scorpion Biting in Hindi)

दोस्तों हम लोग जानते हैं कि बिच्छू का जहर कितना ज्यादा खतरनाक होता है और यहां तक यह यह बिच्छू का जहर किसी के शरीर में फैल जाने पर उसका मौत का भी कारण बन सकता है तो दोस्तों हम आपको बताना चाहेंगे कि सेब के औषधीय प्रयोग करने से आप बिच्छू का जहर को भी कम कर सकते हैं तो यदि आपको कहीं भी बिच्छू काटे तो आप उसको ठीक करने के लिए  सेव के औषधि का प्रयोग कर सकते हैं  उसके लिए आप सबसे पहले 100 मिली सेब के रस में 500 मिग्रा कर्पूर को मिला लें।

इससे कुछ ही समय में पीछे के द्वारा काटा गया जहार उतर जाता है। तो इस प्रकार से आप सेव के औषधि का प्रयोग बिच्छू का ज़हर उतारने में भी कर सकते हैं इसके लिए भी सेव काफी ज्यादा लाभकारी होता है तो यदि आपको भी कभी भी जुगाड़ दे तो आप इस तरह सेव के औषधि का प्रयोग करके बिच्छू के जहर को उतार सकते हैं और अपने आप को बिच्छू के जहर से आराम दिला सकते हैं।

सेब के पेड़ के उपयोगी भाग (Useful parts of Apple Tree)

दोस्तों हम आपको बताना चाहेंगे कि सेब के पेड़ के उपयोगी भाग उसका फल, पत्ते और उसका छाल होता है। यह सब कई बीमारियों में और  सॉरी से जुड़ी कई परेशानियों  के लिए काफी ज्यादा फायदेमंद होता है।

सेब के सेवन की मात्रा (How Much to Consume Apple)

दोस्तों यदि आप नहीं जानते हैं कि सेव का सेवन किस मात्रा में करना चाहिए तो हम आपको जानकारी के लिए बता दें कि आप सेब का सेवन एक बार में 1 से 3 सेब  कर सकते हैं  इसके अलावा आप सेव के जूस का सेवन  5-15 मिली तक कर सकते हैं इतना मात्रा में सेवन करने से यह आपके सेहत के लिए काफी फायदेमंद होगा।

और आपके शरीर के सभी रोगों और परेशानियों को दूर करेगा।  लेकिन दोस्तों हम आपको बताना चाहेंगे कि आप इसका सेवन करने से पहले अपने  डॉक्टर, आयुर्वेदिक चिकित्सक या विशेषज्ञ से इसके बारे में सलाह जरूर लें उसके बाद ही आप  सेव का सेवन शुरू करें।

Vinegar क्या है? What is Vinegar meaning in hindi |Vinegar के फायदे और नुकसान

सेब कहाँ पाया या उगाया जाता है?(Where is Apple Found or Grown?)

Apple Harvest and How to make Apple Juice in Factory, Apple juice  production line - YouTube

दोस्तों यदि आप नहीं जानते हैं कि सेब कहाँ पाया या उगाया जाता है तो हम आपको जानकारी के लिए बता दें कि सेब फल पर्वतीय क्षेत्रों में पैदा होने वाला फल है। यह  भारत में  उत्तरी-पश्चिमी हिमालय में लगभग 2,700 metre तक की ऊँचाई पर पैदा होता है। भारत में इस सेव फल का की खेती मुख्यतः उत्तराखण्ड, हिमाचल प्रदेश, और जम्मू-काश्मीर के कई क्षेत्रों में होती है। सबसे ज्यादा भारत में जम्मू कश्मीर में सेब का खेती किया जाता है इसलिए कश्मीर का सेब काफी प्रसिद्ध है।

यह सेब फल मुख्यतः मध्य एशिया का फल है, लेकिन बाद में यह यूरोप के कई देशों में भी उगाया जाने लगा। इसे यूरोप और एशिया से उत्तरी अमेरिका बेचा जाता है। इसका यूरोप और यूनान में धार्मिक महत्व भी है इसके अलावा भारत में भी इस फल को काफी ज्यादा उगाया जाता है और इस फल को पूजा के लिए भी इस्तेमाल किया जाता है और प्रसाद के रूप में भी इस फल को खाया जाता है।

सेब का उपयोग – How to Use Apple in Hindi

आर्टिकल के इस टॉपिक में आप लोग जानेंगे कि सेब को कैसे खाना चाहिए, उसका सेवेन किस तरह से करना चाहिए तकरीबन एक दिन में सेब कितना खाना चाहिए और कब खाना चाहिए। तो चलिए शुरू करते है इस टॉपिक को बिना देरी किये हुवे

सेब कैसे खाना चाहिए?

आप सेब को सीधे या उसे काट कर भी खा सकते हैं ये बात आप के ऊपर निर्भर करता है । स्वाद के लिए आप उस पर थोड़ा-सा काला नमक का प्रयोग भी कर सकते हैं। क्या आपको मालूम है कि आप सेब को अन्य फलों के साथ फ्रूट सलाद के रूप में  भी काफी आसानी के साथ खा सकते हैं। चाहें तो स्वाद के लिए उस पर थोड़ा-सा कला नमक और चाट मसाला भी मिला सकते हैं।

क्या आपको मालूम है कि आप सेब का जूस निकाल कर भी  पी सकते हैं। सेब का इस्तेमाल आप एप्पल पाई,  डोनट, केक, फ्रूट कस्टर्ड, और एप्पल फ्रेंच जैसे काफी अलग अलग तरह के टोस्ट बना कर भी कर सकते हैं। सेब की आप स्मूदी भी बना कर सेवन कर सकते हैं। इसमें आप  शहद और दूध भी मिला सकते हैं। तो दोस्तों कुछ इस तरह से आप सेब का सेवन कर सकते हैं

हींग के फायदे और नुकसान | Benefits of Asafoetida in Hindi | Asafoetida Meaning in Hindi

सेब को कितना खाना चाहिए?

विसेसगयो के हिसाब से सेब में प्रति 100 ग्राम में तकरीबन 52 कैलोरी हमारी शरीर को प्राप्त होती है, तो एक दिन में आप एक बड़ा या मध्यम आकार का सेब काफी आसानी और मौज के साथ खा सकते हैं।

सेब को कब खाना चाहिए?

सेब खाने के फायदे उठाने के लिए इसका सेवन नाश्ते के रूप में खाने की सलाह दी जाती है। आप चाहें तो इसे हल्के शाम को स्नैक्स के साथ भी मजे ले कर के खा सकते हैं।

हम आपके जानकारी के लिए बता दे कि किसी भी सामग्री के उनके फायदों के साथ उस के नुकसान  को भी जानना बेहद जरूरी होता है। तो सेब के फायदे और गुण जानने के बाद आपको सेब के नुकसान को अच्छे तरह से बताते हैं।

सेब के उपयोग से जुड़ी कुछ जरूरी बातें 

सेव को कई प्रकार से उपयोग किया जाता है  अगर हम सेव के कुछ उपयोग के बारे बारे में बात करें तो सेब मधुमेह के इलाज के लिए उपयोग किया जाता है l सेब बालों के झड़ने या पुरुषों में गंजापन को रोकने के लिए भी सेव फल का उपयोग किया जाता है इसके अलावा सेव का और भी बहुत प्रकार से उपयोग किया जाता है जैसे कि , दस्त के लिए, त्वचा की देखभाल के लिए फेफड़ों के कैंसर को ठीक करने के लिए, इत्यादि जैसे  अभी बहुत सारे  रोगों के इलाज के लिए  सेव फल का उपयोग किया जाता हैl

इसके अलावा सेव बढ़ते हुए माइग्रेन के दर्द को ठीक करने में मदद करते हैं। और सेव खाना पकाने के उद्देश्यों में भी काफी ज्यादा उपयोग किए जाते हैं- फल के रूप में या सेब साइडर सिरका के रूप में भी काफी ज्यादा सेव का उपयोग किया जाता है । सेब या सेब साइडर भोजन मे सुगंध और स्वाद को बढ़ाता है।

सेब साइडर सिरका के साथ टपका हुआ प्रसिद्ध विनीज़ मिठाई सेब स्ट्रैडल, कोहलाबी चना, डच एप्पल पेनकेक्स, पोट्लक जर्मन ऐपल केक, कारमेल सेब तीखा, एप्पल और भुना हुआ मांस कुछ मुंह में पानी आने जैसे और सुगंधित सेब व्यंजन हैं। आप किस प्रकार से भी सेव का  पयोग कर सकते हैं और इसे खा सकते हैं  इस प्रकार से भी सेव का सेवन करने से आपको काफी ज्यादा फायदा होगा।

ओट्स क्या है? और ओट्स और दलिया में अंतर | What is Oats in Hindi and Benefits, Uses, difference in Hindi

सेब खाने के नुकसान (Side effects of apple in hindi)

सेब रक्त में शुगर की मात्रा को बढ़ा देता है।

दोस्तों हम आपको बता दे कि सेब, फाइबर, कार्बोहाइड्रेट्स, और अन्य पोषक तत्वों का एक बहुत अच्छा स्त्रोत है। ये कार्बोहाइड्रेट्स शरीर में उर्जा के लिए इस्तेमाल किये जाते हैं।

एक recharge के अनुसार हम आपको बता दें कि एक मध्यम आकार के सेब में  5 ग्राम फाइबर और 25 ग्राम कार्बोहाइड्रेट्स होती है। हालांकि, यदि आप सेब फल का  अधिक मात्रा में सेवन करते हैं तो शरीर में फैट की मात्रा बढ़ जाती है।

तो यदि आप खाली पेट सेब खाते हैं तो शुगर की मात्रा में बढ़ोतरी होती है तो ऐसे में  सेब खाने का सही समय है कि आप खाने के बाद ही सेव का सेवन करें ।

दोस्तों हम आपको बता दें कि यह बहुत ज्यादा  सेव का सेवन करने से हमारे शरीर में फैट के साथ साथ रक्त में मौजूद शुगर भी बढ़ जाती है जो कि हमारे शरीर और हमारे स्वास्थ्य के लिए काफी नुकसानदायक है इसीलिए आप सेव की सेवन सिर्फ सीमित मात्रा में ही करें।

खाली पेट सेब खाने से हार्ट से सम्बंधित बिमारियों का खतरा होता है

दोस्तों हम आपको बता दें कि सेब फल में  बहुत अधिक मात्रा में फ्रुक्टोस पाया जाता है।  यदि आपको नहीं पता है कि फ्रुक्टोस क्या होता है तो हम आपको जानकारी के लिए बता दें कि यह एक प्रकार का शुगरी पदार्थ है। और यह हमारे शरीर में जाकर एक सीरप बना लेता है।

और बात यह है कि गुलकोज जिस प्रकार से हमारे शरीर में जाकर रक्त के साथ में जाता है लेकिन यह फ्रुक्टोस हमारे शरीर में पूरी तरह से नहीं मिल पाता है और सिर्फ लीवर में ही रह जाता है।

फ्रुक्टोसे के एकत्रित होने के कारण शरीर में ट्राईग्लिसराइड्स नामक एक फैट का उत्पादन होता है जो हार्ट की  परेशानियों और समस्याओं के लिए ज़िम्मेदार होते हैं। क्योंकि अधिक मात्रा में सेव का सेवन करने से हमारे शरीर में  इसकी मात्रा काफी ज्यादा बढ़ जाती है और जिस से हार्ट से सम्बंधित बिमारियों का खतरा भी काफी हद्द तक बढ़ जाता है। इसीलिए हम आपको सलाह देना चाहेंगे कि आप सेव का सिवान आप सिर्फ सीमित मात्रा में ही करें।

सेब खाने से एलर्जिक रिएक्शन भी हो जाते हैं।

क्या आपको मालूम है कि कुछ लोगों को सेब खाने से एलर्जी या रिएक्शन भी हो जाती है। ऐसे लोग जिन्हें बेर, बादाम, आड़ू, खुबानी,और स्ट्रॉबेरी का सेवन अधिक मात्रा में करते है, तो उन्हें सेब खाने से एलर्जी होने का खतरा भी बना रहता है।

इस से पहले कि किसी भी तरह के की एलर्जी हमारे शरीर को हानि पहुंचाए इस लिए यह बात बहुत ज़रूरी होता है कि ऐसे लोग सेब का सेवन करने से पहले एक बार अपने चिकित्सक या किसी विसेसगय से सलाह जरूर ले लें उसके बाद ही कोई निर्णय पर पहुंचें।

कलौंजी के सभी फायदे और उसके नुकसान | Kalonji Benefits and Side Effects in Hindi

सेब के बीज से भी होती है हानि (Apple Seeds side effects in hindi)

Are Apple Seeds Poisonous? - Chowhound

गाइस क्या आपको मालूम है कि कई सारे विसेसगयो के सर्वे के अनुसार ऐसा पाया गया है कि सेब तब तक ही फायदेमंद और गुणकारी होता है जब तक उस के बीज का उपयोग न किया जाये। ऐसा इस लिए है क्योंकि सेब के बीज के अन्दर साइनाइड (sensodyne) नामक किसी पदार्थ को पाया जाता है जो पाचन प्रक्रिया के दौरान हमारे शरीर में पहुँच जाता है।

गाइस इस कारण से हमें हमेशा यह बात को याद रखना चाहिए कि जब भी हम सेब का सेवन करे तब उस के बीज को निकल कर ही उसका सेवन करें। किसी experiment के अनुसार, ऐसा पता चला है कि यदि हमें एक कप से जयदा सेब के बीज को खा लेते है तो उस में साइनाइड Sinead के वजह से हमारी मृत्यु भी हो सकती है। क्योंकि उस मे साइनाइड की मात्रा बहुत ज्यादा होती है।

सेब के सेवन करने से वज़न बढ़ जाता है।

अगर आपको मालूम नहीं है तो हम आपकी जानकारी के लिए बता दें कि सेब को आमतौर पर बहुत ही लाभदायक फल माना जाता है लेकिन इस में कैलोरीज calories और शुगर suger की मात्रा इतनी अत्यधिक होती है और अगर आप सब का सेवन इसके सीमित मात्रा से अधिक करते है तो उस के वजह से इंसान का वज़न काफी हद्द तक बढ़ सकता है।

यदि मनुष्य की प्रतिदिन तकरीबन 4 से 5 सेब या इस से ज्यादा का सेवन करता है तो उस के शरीर में तकरीबन 3400 से 3500 के आस पास कैलोरीज बन जाती हैं जो तकरीबन आधा किलो के बराबर हैं। इस का अर्थ यह साफ है कि यदि हम 1 वर्ष तक प्रतिदिन 4 से 5 सेब का सेवन नियमित रूप से करते है तो सालभर में हमारा वज़न तकरीबन 26 किलो तक बढ़ जायेगा।

सेब के नुकसान दांतों के लिए

दोस्तों जैसा कि आप जानते हैं कि सेब के सिरके को अत्याधिक फायदेमंद माना जाता है  क्योंकि इससे सेहत पर बहुत प्रकार के फायदे होते हैं  लेकिन ज्यादा मात्रा में इसे  सेवन करने से हमारे सेहत के लिए यह काफी ज्यादा हानिकारक हो सकता है।

सेव खाने का सबसे बड़ा नुकसान में से एक यह है कि यह खाने के बाद हमारे दांतों को नुकसान पहुंचाता है  क्योंकि सेब अम्लीय एसिड होता है अम्लीय (एसिडिक) होने के कारण, सेब के सिरके को यदि बिना पानी के सेवन किया जाये तो यह हमारे दांतो के लिए काफी ज्यादा हानिकारक होता है  इसके साथ ही इसको पीने के बाद मुंह को अच्छे से साफ कर लेना चाहिए  ताकि कुछ सिरका दातों में अटका करना है नहीं तो यह हमारे लिए काफी नुकसानदायक हो सकता है।

मकई का आटा (Cornflour) क्या है?  और  इसके फायदे और नुकसान  क्या है

सेब के रस से भी होता है नुकसान (side effects of apple juice in hindi)

दोस्तों जैसा कि हम लोग जाने हैं कि सेव का रास्ता काफी फायदा होता है और इसको सही मात्रा में लिया जाए तो इसका काफी ज्यादा  फायदा हमारे शरीर को होता है लेकिन यदि  इसे सीमित मात्रा से अधिक लिया जाए तो यह हमारे शरीर के लिए नुकसानदायक नहीं हो सकता है ।

खाली पेट अधिक मात्रा में सेव का रस का सेवन करने से हमें डायरिया यानी दस्त  भी हो सकता है  जो लोग नियमित रूप से सेव का सेवन करते हैं उन लोगों में सरदर्द, थकान चक्कर, आदि की समस्याएं अत्यधिक पायी जाती हैं। इसीलिए आप सेब के रस सेवन सिर्फ सीमित मात्रा में करें।

त्वचा के लिए सेब के नुकसान

यदि आप ज्यादा मात्रा में सेव के रस का सेवन करते हैं तो  यह भी आपके लिए काफी नुकसानदायक हो सकता है  इससे हमारे कंठ भी खराब हो सकते हैं और ये सब सेब के सिरके को बिना पानी मिलाये पीने के कारण होता है।

इसलिए आपसे सेब सिरका पीने के लिए पानी मिलकर पतला करें तभी इसे  सेवन करें अन्यथा या आपके सेहत के लिए नुकसानदायक हो सकता है।

सेब के नुकसान से कैसे बचें? (How to protect from side effects of apple in hindi)

दोस्तों यदि आप  देव का सेवन करने के साथ-साथ उसके दुष्परिणाम से भी बचना चाहते हैं  तो आपको  यह जरूरी है कि सेब  का सीमित मात्रा में  सेवन करें और साथ ही साथ सही समय पर सेवन करें। तो आइए जानते हैं कि इसके नुकसान से हम कैसे बच सकते हैं।

  • आपको हर रोज सुबह या दोपहर में ही सेव का सेवन करना चाहिए।
  • आपको सेब के जूस का सेवन कम  करना चाहिए।
  • आपको सेब खाने के बाद  अपने दांत को साफ़  जरूर करना चाहिए ।
  • आपको रात को सेव को नहीं खाना चाहिए।
  • आपको 1 दिन में 1 से उसे ज्यादा नहीं खाना चाहिए।
  • आपको सेव के बीज को नहीं खाना चाहिए।

चिया बीज क्या है और चिया बीज  के  फायदे और नुकसान

[ Conclusion, निष्कर्ष ]

दोस्तों आप से आशा करता हूं कि आपको मेरा यह लेख सेव खाने के फायदे और नुकसान (Apple health benefits and Side Effects in Hindi) आपको बेहद पसंद आया होगा और आप इस लेख की मदद से वह सभी जानकारी को पूरे विस्तार से प्राप्त कर चुके होंगे जिसके लिए आप हमारे वेबसाइट पर आए थे हमने इस लेख में सरल से सरल भाषा का उपयोग करके आपको इस सेब के फायदे और नुकसान के बारे में संपूर्ण जानकारी देने की कोशिश की है ।

क्योंकि हमें मालूम है आज भी कई सारे ऐसे लोग हैं जो जानना चाहते हैं कि आखिर सेब के फायदे और नुकसान क्या होता है दोस्तो हम लोग इस आर्टिकल में सेब खाने के बहुत सारे फायदे बताए हैं और यह भी बताया है की सेब फल के सेवन करने से आपको कौन-कौन सी बीमारियों से बचने में सहायता मिल सकता है।

इसके अलावा हमने इस आर्टिकल में  यह भी बताया है कि सेब के अधिक मात्रा में सेवन करने से नुकसान क्या क्या हो सकता है  र इस प्रकार हमने इस आर्टिकल में सेव से जुड़ी सभी जानकारियों को देने की प्रयास की है  तो दोस्तों यदि आप हमारे इस आर्टिकल को पूरे अब तक पढ़े होंगे ।

तो हमें उम्मीद है कि आप हमारे इस आर्टिकल में बताए गए सभी सेब के फायदे और  नुकसान से जुड़ी सभी जानकारियों को प्राप्त कर चुके होंगे  और आप जान चुके होंगे कि सेब के सेवन करने से फायदे और नुकसान क्या-क्या  हो सकते हैं।

अगर दोस्तों आपको इस पोस्ट में कहीं भी कोई भी किसी भी तरह को,पढ़ने में या किसी भी चीज में कोई भी दिक्कत हुई होगी तो आप हमारे कमेंट बॉक्स में बेझिझक कुछ भी सवाल पूछ सकते हैं।

हमारी समूह आपकी मैसेज के रिप्लाई जरूर देगी और आप यह भी कमेंट में जरूर बताएं कि सेब खाने के फायदे और नुकसान (Apple health benefits and Side Effects in Hindi) पर यह पोस्ट लगा ताकि हम आपके लिए दूसरे पोस्ट ऐसे ही लाते रहे। तो चलिए दोस्तों इसी जानकारी के साथ हम अब इस लेख को समाप्त करते हैं और अगर आपको हमरा यह पोस्ट को पढ़ने के लिए दिल से धन्यवाद………

Baking soda उपयोग क्या है और Baking soda का फायदे और नुकसान क्या है

Previous articleहस्तरेखा का संपूर्ण ज्ञान हाथ की रेखा की जानकारी | Hast Rekha Gyan in hindi
Next articleसंतरे के फायदे और नुकसान | Orange Health Benefits In Hindi (2022)

4 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here