Home HEALTH AND BEAUTY ग्रीन टी अर्थात हरी चाय के फ़ायदे व नुकसान | Green Tea...

ग्रीन टी अर्थात हरी चाय के फ़ायदे व नुकसान | Green Tea Benefits and Side Effect in hindi (2022)

3
Green Tea Benefits
Green Tea Benefits

नमस्कार दोस्तों कैसे हैं आप लोग आशा करता हूं आप बिल्कुल ठीक होंगे आपका हार्दिक स्वागत है हमारे इस लेख में आज के इस नए लेख के मदद से हम ग्रीन टी के फायदे एवम उपयोग और नुकसान (Green tea Benefits In Hindi) के बारे में संपूर्ण जानकारी पूरे विस्तार से प्राप्त करने वाले हैं और इसके बारे में जानने भी वाले हैं। क्योंकि दोस्तों बहुत सारे लोग ऐसे हैं जो ग्रीन टी फल का सेवन करते हैं लेकिन वह नहीं जानते हैं कि ग्रीन टी के फायदे और नुकसान क्या क्या होते हैं। 

दोस्तों इस लेख में हम लोगों जानेंगे कि ग्रीन टी क्या है और ग्रीन टी का किस किस चीज में उपयोग किया जाता है और ग्रीन टी के अलग अलग नाम अलग अलग भाषाओं में, इसके अलावा हम लोग इस आर्टिकल में पूरा विस्तार से जानेंगे कि ग्रीन टी के फायदे क्या क्या होते हैं और ग्रीन टी के नुकसान क्या क्या होते हैं और इसके अलावा इस आर्टिकल में हम लोग यह भी जानने की कोशिश करेंगे कि ग्रीन टी का उपयोग किस प्रकार से किया जाता है।

और  उसके बाद इस आर्टिकल में हम आपको यह भी बताएंगे कि ग्रीन टी के कितने प्रकार होते हैं। इसके अलावा हम लोग इस आर्टिकल के अंत में बात करेंगे कि क्या रोज ग्रीन टी का सेवन करना चाहिए और ग्रीन टी में कौन कौन सा पोषक तत्व पाया जाता है तो यदि आपकी इन सारी जानकारियों के बारे में एक कुछ भी नहीं जानते हैं और आप ग्रीन टी को सेवन करना चाहते हैं ।

तो कृपया आप हमारे इस आर्टिकल को पूरा अंत तक जरूर पढ़ें  क्योंकि इस आर्टिकल में हमने ग्रीन टी से जुड़ी सभी जानकारियों को पूरा आसान से आसान और सरल से सरल भाषा में समझाया है तो दोस्तों बिना कोई देरी के चलिए शुरू करते हैं आज के इस नए लेख को और जानते हैं कि ग्रीन टी पीने के फायदे और नुकसान क्या होते हैं।

हल्दी के गुण फायदे एवम उपयोग और नुकसान | Turmeric Health Benefits In Hindi (2022)

ग्रीन टी क्या है (what is Green tea in hindi)

दोस्तों इस टॉपिक के मदद से हम जाने वाले हैं कि ग्रीन टी क्या होता है तो चलिए शुरू करते हैं इस टॉपिक को बिना देरी किए हुए हम आपकी जानकारी के लिए बता दें कि ग्रीन टी को हरी चाय भी कहा जाता है।

ग्रीन टी को कैमेलिया साइनेन्सिस नामक कसी के पौधे की पत्तियों से ही बनाई जाती है। हम आपको बता दे की कैमेलिया साइनेन्सिस की पत्तियों का उपयोग न सिर्फ ग्रीन टी (green tea) बल्कि अन्य प्रकार की चाय जैसे की (black tea) ब्लैक टी बनाने में भी किया जाता है,

लेकिन मानव और इंसान के स्वास्थ्य पर सबसे ज्यादा प्रभाव green tea का देखा गया है। अगर बात करें  ब्लैक टी और ग्रीन टी की, तो भले ही ये एक ही पौधे (कैमेलिया साइनेन्सिस) से मिलते हों, लेकिन, दोनों को बनाने का और उपयोग करने तरीका अलग अलग है।

क्या आपको मालूम है कि green tea का उत्पादन करने के लिए कैमेलिया साइनेन्सिस के पौधे से ताजे पत्तों को तोड़ने के बाद तुरंत बाद ही भाप दी जाती है, ताकि ग्रीन टी का बेहतर तरह  से  निर्माण हो।

यह बनाने के प्रक्रिया स्वास्थ्य को बढ़ावा देने वाले प्राकृतिक पॉलीफेनोल्स (polyphenols) को संरक्षित भी रखती हैं । वहीं, इस में ब्लैक और ओलोंग टी (Ongole tea) की तुलना में बहुत अधिक कैटेचिन (cateching) पाया जाता है, जो एक प्रकार का एंटीऑक्सीडेंट  (Antioxidant) होता है। आमतौर पर भले ही ग्रीन टी का विकास पश्चिमी देशों ने किया हो,

लेकिन क्या आपको मालूम है कि भारत की भूमि पर भी ग्रीन टी की खेती और उपज के हिसब से बहुत अच्छी पैदावार होती है। ख़ास कर के असम, मेघालय के बहुत बड़े बडे पहाड़ो और भारत के जंगली क्षेत्रों में इस की खेती भी की जाती है।

हम आपकी जानकारी के लिए बता दें कि ग्रीन टी एक ऐसा चाय होता है जिस से हमारे शरीर मे फुर्ती के साथ-साथ हमारे शरीर को कई तरह से लाभ भी पहुचाता है। चलिए दोस्तों अब हम अगले टॉपिक की ओर बढ़ते हैं और ग्रीन टी से जुड़ी कुछ नई जानकारी को प्राप्त करते हैं।

संतरे के फायदे और नुकसान | Orange Health Benefits In Hindi (2022)

ग्रीन टी के प्रकार – Types of Green Tea in Hindi

दोस्तों इस टॉपिक के मदद से हम जानने वाले हैं कि आखिर ग्रीन-टी के कितने प्रकार होते हैं तो चलिए शुरू करते हैं टॉपिक को बिना देरी किए हुए हम आपकी जानकारी के लिए बता दें कि दुनिया भर में ग्रीन-टी के लगभग कई सारे अलग-अलग तरह के प्रकार पाए जाते हैं जिनकी उपयोग भी अलग-अलग होती है।हमने आपको नीचे में स्टेप बाय स्टेप करके ग्रीन-टी के कुछ प्रमुख पर जातियों के बारे में बताया है जिनका उपयोग अक्सर हम लोग करते हैं तो चलिए उन्हें जान लेते हैं।

  • जैस्मीन ग्रीन-टी।म
  • सेन्चा ग्रीन-टी
  • ग्योकुरो ग्रीन-टी
  • मोरक्को मिंट ग्रीन-टी
  • गेन माचा ग्रीन-टी
  • ड्रैगन वेल ग्रीन-टी
  • हौजीचा ग्रीन-टी
  • कुकीचा ग्रीन-टी
  • बिलोचन ग्रीन-टी
  • सेन्चा ग्रीन-टी

तो दोस्तों कुछ यहीं थे हल्दी के प्रमुख प्रकार जिन का उपयोग लोग करते हैं मगर आमतौर पर इन सभी ग्रीन-टी के प्रमुख प्रकारों में से सबसे ज्यादा उपयोग सबसे पहला वाला इस मोरक्को मिंट ग्रीन-टी प्रकार को ही किया जाता है क्योंकि वह आसानी से किसी के घर में भी देखने को मिल जाएगा। तो चलिए दोस्तों अगले टॉपिक की ओर बढ़ते हुए और ग्रीन-टी से जुड़ी कुछ नई जानकारी को प्राप्त करते हैं।

सेब खाने के फायदे और नुकसान | Apple health benefits and Side Effects in Hindi

ग्रीन टी का इतिहास (Green Tea History)

दोस्तों इस टॉपिक के मदद से हम ग्रीन टी से जुड़ी उसके इतिहास के बारे में जानकारी प्राप्त करने वाले हैं तो चलिए शुरू करते हैं इस टॉपिक को बिना देरी किए हुए हम आपकी जानकारी के लिए बता दें कि

इतिहासकारों के अनुसार तकरीबन शाल 1046 में चीन के शांग राजवंश ने चाय की उत्पत्ति किसी बेहतर तरह के औषधि के रूप में की,

हम आपको एक बात और बता दे कि लू यू द्वारा लिखी गयी यह पुस्तक जिसका नाम ‘चाय क्लासिक’ है उस को हरी चाय के इतिहास में बहुत ज्यादा ही महत्वपूर्ण माना जाता है। बाद में मंगोलों ने इसे पेय पदार्थ के रूप में धीरे धीरे उपयोग करना शुरू कर दिया था। हमारे देश भ भारत में ईस्ट इण्डिया कंपनी (East India Company) की स्थापना के कुछ समय बाद ब्रिटिश ने यूरोप और एशिया में चाय के व्यापार को बड़े पैमाने ओर शुरू किया।

 इस के बाद में दार्जलिंग नामक जगह पर चाय की खेती को प्रसिद्धीता मिली और भारतीय चाय हमारे महादेश एशियाई लोगों के लिए एक लोकप्रिय और प्रसिद्ध पेय पदार्थ बन गया, आज पुरे दुनिया में इस पेय का आनंद अलग अलग तरीको से उठाया जाता है। तो दोस्तों कुछ इस तरह से ही ग्रीन टी का इतिहास रहा है तो चलीए अगले टॉपिक की ओर बढ़ते हैं और ग्रीन टी से जुड़ी कुछ नई जानकारी को प्राप्त करते हैं।

निम्बू के फायदे और नुकसान | Lemon Health Benefits in Hindi

हरी चाय में पाए जाने वाले पोषक तत्व(Green Tea Nutritional Value in hindi)

दोस्तों इस टॉपिक के मदद से हम जानने वाले हैं कि आखिर 100 ग्राम ग्रीन-टी में कौन कौन से पोषक तत्व पाए जाते हैं और वह कितने मात्रा में पाए जाते हैं तो चलिए शुरू करते हैं इस टॉपिक को बिना देरी किए हुए हमने नीचे में सभी पोषक तत्वों को स्टेप बाई स्टेप कर के लिखा है और उन के मात्रा को भी लिखा है तो आप उन्हें ध्यान से पढ़ें।

  • ऊर्जा (Energy) तकरीबन 0.96 कैलोरी calories
  •  प्रोटीन (Protein) तकरीबन 0.2 ग्राम
  • थाईमीन बी1  (Thymine B1) तकरीबन 0.007 मिलीग्राम
  • रिबोफ्लाविन बी2 (Roboflavin B2) तकरीबन  0.06 मिलीग्राम
  • नियासिन बी3 (Niasen) 3 0.03 मिलीग्राम
  • विटामिन बी6  (Vitamin B6) तकरीबन 0.005 मिलीग्राम
  •  विटामिन सी (Vitamin C) तकरीबन 0.3 मिलीग्राम
  • आयरन (iron) तकरीबन 0.02 मिलीग्राम
  • मैग्नीशियम (magnesium) तकरीबन 0.18 मिलीग्राम
  • पोटैशियम (potassium) तकरीबन 8  मिलीग्राम
  • सोडियम (sodium) तकरीबन 1 मिलीग्राम
  • पानी (water) तकरीबन 99.9 मिलिग्राम
  • कैफ़िन (caffeine) तकरीबन 12 मिलीग्राम

ग्रीन-टी में कुछ इस प्रकार से पोषक तत्व के मात्रा पाय जाते है । ग्रीन-टी में आयरन तथा vitamin C भी मिलता हैं इस तरह ग्रीन-टी पोषक तत्व के मामलों में मल्टी टेलेंटेड हैं, जो कि हमारे शरीर को रोगों से लड़ने के लिए पूरी तरह से तैयार करता हैं। तो दोस्तों कुछ इस तरह से ही ग्रीन-टी होता है तो चलीए अगले टॉपिक की ओर बढ़ते हैं और ग्रीन-टी से जुड़ी कुछ नई जानकारी को प्राप्त करते हैं।

पपीता खाने के फायदे और नुकसान | Papaya health benefits and Side Effects in Hindi (2022)

ग्रीन-टी  के फ़ायदे (Green Tea Benefits in hindi)

दोस्तों इस टॉपिक के मदद से हम जाने वाले हैं कि ग्रीन-टी की सेवन करने से हमारे शरीर में किस किस तरह के फायदे होते हैं तो चलिए शुरू करते हैं इस टॉपिक को बिना देरी किए हुए हम आप की जानकारी के लिए बता दें कि ग्रीन-टी के होने वाले फायदे को हमने स्टेप बाय स्टेप कर के नीचे में लिखा है तो आप उन्हें ध्यान से पढ़ें और समझे।

बालों के लिए लाभदायक (Green Tea Benefits for Hair in hindi)

गाइस क्या आपको मालूम है कि आप ग्रीन-टी के नियमित सेवन करने से आप अपने बालो को काफी हद तक बढ़ा सकते हैं। हम आपकी जानकारी के लिए बता दें कि ग्रीन-टी के उपयोग से हम अपने बालों का झड़ना और टूटना रुकने के साथ ही उन का विकास भी काफी तेज़ी से होता है। क्या आपको मालूम है कि ग्रीन-टी हमारे बालों को प्राकृतिक रूप से बढ़ने और आकर्षक बनाने में मदद करते है।

ग्रीन-टी के चाय में पोल्य्फेनोल्स (polyphenols), विटामिन सी (Vitamin C), 5-अल्फ़ा रिडक्टेज (Alpha Redictage) और विटामिन इ (vitamin E) भी प्रचुर मात्रा में पाए जाते है, जो हमारे बालों के विकास और उन को नरम और सिल्की रखने में सहायक होते है।

ग्रीन-टी की चाय में मिलने वाली पाली फेनोलास्टिक (fenoelastic) और टेस्टोस्टेरोन (Testosterone) पदार्थ हमारे बालों को झड़ने से रोकने में अहम रोल निभाता है।

जिस से यह लम्बे और तरो ताज़े घने बालों के लिए आसान और बेहतर घरेलू उपाय हैं। ग्रीन-टी का उपयोग सर को साफ़ रखने और सिर को अलग अलग तरह के संक्रमण से बचाने के लिए भी किया जा सकता है।

ग्रीन-टी का बालों को झड़ने से रोकने के लिए प्रयोग करने का तरीका

दोस्तों क्या आपको मालूम है कि आप ग्रीन टी का उपयोग अपने बाल झड़ने के रोकथाम के लिए भी कर सकते हैं तो वह हमने इस टॉपिक में आपको ग्रीन टी के सही उपयोग के बारे में कुछ तरीका बताया है कि आप किस तरह से उपयोग करके अपने बालों को हेल्थी बना सकते हैं तो चलिए शुरू करते हैं इस टॉपिक को बिना देरी किए हुए

ऐसा करने के लिए सबसे पहले आपको अपने बालों को सामान्य रूप से अच्छे से धो ले फिर ग्रीन टी के ताजे हरे पत्ते के रस को अच्छे से निकाल कर के बालों में तकरीबन 10 से 15 मिनट तक के लिए लगा कर छोड़ दे। इस ग्रीन टी की प्रक्रिया को आप सप्ताह में  तकरीबन 2 से 3 बार दोहराए ऐसा करने से आपके बालों में रुसी की समस्या पूरी तरह से दूर हो जाएगी।

ग्रीन टी को आप ठन्डे या फिर गर्म रूप में इस में हल्का सा शहद को अच्छे से मिला कर के पीने से भी बालों को झड़ने और गिरने से रोकने में बहुत मदद मिल सकती है। ग्रीन टी के तीन बैग को अच्छे तरह से आधा लीटर पानी में तकरीबन 10 से 15 मिनट के लिए रखने के बाद वहाँ से निकाल दे, उस के बाद इस पानी से आप अपने बालों की जड़ो में मालिश की तरह ही मसाज करे, आप को ऐसा करने से बहुत लाभ मिलेगा।

ग्रीन टी को तकरीबन 2 से 3 छोटे चम्मच और 1 अंडे के  साथ मे मिला कर के बालों में लगा कर तकरीबन आधे घंटे के लिए आप छोड़ दे, फिर इसे ठन्डे या हल्के गुनगुने पानी से धो ले। इस मिश्रण को लगाने से आप अपने बालों में बढ़ोतरी होती है और वो पहले से ज्यादा सिल्की और मुलायम बनते है। इस के अलावा आप चाहे तो इस ग्रीन टी के मिश्रण में शहद और नीम्बू को भी मिल कर उपयोग कर सकते है.

इस के अलावा हम मार्केट में ग्रीन टी से मिली हुई शैम्पू, कैप्सूल और  कंडीशनर भी उपलब्ध है, जिस का उपयोग कर आप अपने बालों को झड़ने से बचा सकने में मदद ले सकते है। तो दोस्तों ग्रीन टी कुछ इस तरह से हमारे शरीर के लिए फायदेमंद साबित होता है तो चलीए अगले टॉपिक की ओर बढ़ते हैं और ग्रीन टी के फायदे होने के कुछ नई जानकारी को प्राप्त करते हैं।

खूबानी के बीज पत्ती जूस और उसके फ़ायदे | Apricot fruit Juice, Leaves, Seeds health skin hair benefits in hindi

ग्रीन टी त्वचा के लिए लाभदायक (Green Tea Benefits for Skin)

गाइस क्या आपको मालूम है कि आप ग्रीन-टी के नियमित सेवन करने से आप अपने त्वचा को सुंदर और  चमकदार बना सकते हैं। हम आप की जानकारी के लिए बता दें कि ग्रीन टी में एंटी-ऑक्सीडेंट  (antioxidant) प्रचुर मात्रा में रहता है, जिस कारण से यह हमारे शरीर में मौजूद विषाक्त पदार्थो ( यानी कि जहरीले पदार्थो ) को बाहर निकालने में बहुत मदद करता है।

क्या आपको मालूम है कि पेट साफ़ होने की कारण  से त्वचा और धब्बे दाग रहित और कांतिमय दिखती है। ग्रीन टी युक्त मार्केट में कई तरह के कॉस्मेटिक (Cosmetic) उत्पाद में भी उपलब्ध है।

दोस्तों अगर आप कॉस्मेटिक (Cosmetic) उत्पादों का उपयोग नहीं करना चाहते है तो आप अपने घर पर भी अपनी शरीर की त्वचा के अनुसार ग्रीन टी का पैक बना कर इस का उपयोग कर सकते है।

लीची फल बीज रस के फ़ायदे व नुकसान | Lychee Fruit, Seed, Juice health skin hair benefits side effects in hindi

हरी चाय का उपयोग फेस पैक के लिए निम्नलिखित है।

दोस्तों क्या आपको मालूम है कि आप ग्रीन टी का उपयोग अपने त्वाचे पर होने वाले दाग धब्बे और पिम्पल के रोकथाम के लिए भी कर सकते हैं तो वह हमने इस टॉपिक में आप को ग्रीन टी के सही उपयोग के बारे में कुछ तरीका बताया है कि आप किस तरह से उपयोग करके अपने तवचा को हेल्थी बना सकते हैं तो चलिए शुरू करते हैं इस टॉपिक को बिना देरी किए हुए

ऐसा करने के लिए सबसे पहले आपको ग्रीन टी की पत्तियों को तकरीबन 2 कप पानी में अच्छे तरह से उबाल लें फिर इस को ठंडा करने के बाद किसी चीज़ से छान कर इस में चावल के महीन आटे को अच्छी तरह से मिला कर इस मिश्रण को आप अपने चेहरे पर लगाये, इस मिश्रण को लगाने से हमारी शरीर की  त्वचा पर मौजूद अतिरिक्त तेल काफी आसानी से निकल जाते है जिस से काले दाग धब्बे भी हट जाते है और हमारा शरीर की त्वचा चमकदार से साथ साथ स्वास्थ्य भी बनि रही है।

आपको उबली ग्रीन टी को पानी में तकरीबन 2 छोटे चम्मच दूध की क्रीम, तकरीबन 1 छोटे चम्मच चीनी को अच्छी तरह से मिला कर के एक स्क्रब तैयार कर ले फिर आप इस पैक को अपने चेहरे के त्वचा पर तकरीबन 10 से 15 मिनट के लिए लगा कर के छोड़ दे, फिर इसे हल्के हाथों से रगड़ रगड़ कर हल्के गुनगुने या सामान्य पानी से उसड धो दे। 

सामान्य पानी के कई सारे अलग अलग फ़ायदे हैं  इस मिश्रण को लगाने से हमारी शरीर की त्वचा के ऊपर से मृत कोशिकाएं यानी कि (dead cell) हट जाती है और त्वचा में प्राकृतिक चमक और सुंदरता भी बढ़ जाती है।

संवेदनशील त्वचा के लिए आप तकरीबन 1 से 2 चम्मच दही में तकरीबन 1 छोटे चम्मच नींबू का रस निचोड़ लें और तकरीबन 2 से 3 छोटे चम्मच ग्रीन टी की पानी को अच्छे से मिला कर इस मिस्रत को तकरीबन 20 से 30 मिनट तक आप अपने चेहरे पर लगा कर छोड़ दे।

इस मिश्रण को लगाने से दही में मौजूद प्रोटीन (protein), विटामिन डी (vitamin D) और कैल्सियम (calcium) से धुप में काली पड़ गयी त्वचा की कालिमा को कम करने में यह बहुत ही फायदेमंद साबित होती है।

दोस्तों क्या आपको मालूम है कि बेजान और सुखी त्वचा में नई जान लेन के लिए आप तकरीबन 1 से ले कर के 2 छोटे चम्मच ग्रीन टी के पानी में हल्की फुल्की मुल्तानी मिट्टी, हल्का दही, के साथ साथ हल्का शहद और पके हुए केले को अच्छी तरह से मसल कर, के इन सब  सामग्रियों को एक किसी चीज़ में अच्छे से मिला कर इस मिश्रण को तकरीबन 10 से 15 मिनट तक आप आपने चेहरे पर लगा कर सूखने दे बाद में ठन्डे या हल्के गुनगुने पानी से चेहरे के तवचा को अच्छी से साफ़ कर लें।

इस से आप की त्वचा का तुरंत कायाकल्प हो जायेगा त्वचा भी पहले के जैसे जीवंत हो उठेगी साथ ही त्वचा में नई ताजगी आ जायेगी। तो दोस्तों ग्रीन टी कुछ इस तरह से हमारे शरीर के लिए फायदेमंद साबित होता है तो चलीए अगले टॉपिक की ओर बढ़ते हैं और ग्रीन टी के फायदे होने के कुछ नई जानकारी को प्राप्त करते हैं।

Parsley क्या है Parsley के फायदे और नुकसान

ग्रीन टी स्वास्थ्य के लिए लाभदायक (Green Tea Benefits for Health in hindi)

गाइस क्या आपको मालूम है कि आप ग्रीन-टी के नियमित सेवन करने से आप अपने स्वास्थ्य के लिए लाभदायक बना सकते हैं। हम आप की जानकारी के लिए बता दें कि लगभग बहुत हजारों सालों से ग्रीन टी का उपयोग दवाओं के रूप में किया जाता है। लेकिन क्या आपको मालूम है को चीन में इस का उपयोग व्यापक रूप से किया जाता है।

ग्रीन टी के नियमित रूप से सेवन से स्वास्थ्य में कई सारे तरह तरह के सुधार होने की संभावना भी बनी रहती है यह शरीर के तापमान को यह नियंत्रित करने में बहुत मदद करता है।

तो दोस्तों ग्रीन टी कुछ इस तरह से हमारे शरीर के लिए फायदेमंद साबित होता है तो चलीए अगले टॉपिक की ओर बढ़ते हैं और ग्रीन टी के फायदे होने के कुछ नई जानकारी को प्राप्त करते हैं।

भांग के बीज के फायदे और नुकसान | Benefits and Side effects of Hemp Seeds in Hindi

वजन घटाने और मधुमेह को रोकने में मददगार

गाइस क्या आपको मालूम है कि आप ग्रीन-टी के नियमित सेवन करने से आप अपने वजन घटाने और मधुमेह को रोकने में मददगार बना सकते हैं। हम आप की जानकारी के लिए बता दें कि ग्रीन टी हमारे  शरीर में मौजूद ग्लूकोज (glucose) के स्तर को  नियंत्रित करने की कोसिसि करता है, यह उच्च इन्सुलिन स्पाईक्स (insulin spiekes) और वसा भण्डारण को बेहतर तरह से रोक सकता है जिस से रक्त शर्करा की नियंत्रित भी बनी रहती है।

तो दोस्तों ग्रीन टी कुछ इस तरह से हमारे शरीर के लिए फायदेमंद साबित होता है तो चलीए अगले टॉपिक की ओर बढ़ते हैं और ग्रीन टी के फायदे होने के कुछ नई जानकारी को प्राप्त करते हैं।

ह्रदय रोग से बचाव

गाइस क्या आपको मालूम है कि आप ग्रीन-टी के नियमित सेवन करने से आप अपने ह्रदय रोग से बचाव करने में मददगार शाबित हो सकता हैं। हम आप की जानकारी के लिए बता दें कि ग्रीन-टी रक्त वाहिकाओं में खून के थक्के यानी कि जमने के गठन को रोकने में बहुत फायदेमंद शाबित होता है जिस से दिल के दौरे यानी कि (heart attack) पड़ने से बचा जा सकता है।

क्या आपको मालूम है कि अमेरिकन मेडिकल एसोसिएशन (American Medical Association) के एक जरनल में प्रकाशित अध्ययन में यह निष्कर्ष यानी कि तोड़ निकला है कि ग्रीन टी में कैटेचिन (catchin), पोल्य्फेनोलिक (plowphenolic ) यौगिक के होने से इसका सेवन जो कोई भी व्यक्ति करते है उनमे ह्रदय रोग से मृत्यु की दर बहुत ही कम होती है।

तो दोस्तों ग्रीन टी कुछ इस तरह से हमारे शरीर के लिए फायदेमंद साबित होता है तो चलीए अगले टॉपिक की ओर बढ़ते हैं और ग्रीन टी के फायदे होने के कुछ नई जानकारी को प्राप्त करते हैं।

संतरे के फल, जूस के सेवन करने के फायदे और नुकसान 

कैंसर की रोकथाम

गाइस क्या आपको मालूम है कि आप ग्रीन-टी के नियमित सेवन करने से आप अपने कैंसर की रोकथाम करने में मददगार शाबित हो सकता हैं। हम आप की जानकारी के लिए बता दें कि राष्ट्रीय कैंसर संस्थान (National Cancer Institute) के अनुसार हरी चाय में पोल्य्फोनेओल्स की मौजूदगी पराबैगनी किरण (parabagni ray) यूवीबी (UVB) विकिरण के वजह से होने वाले नुकसान से पूरी तरह से बचा सकती है।

 क्या आपको मालूम है कक विसेसगयो के कुछ अध्ययनों में बहुत ही निम्न प्रकार के कैंसर (cancer) पर ग्रीन टी के सकारात्मक प्रभाव को बेहतर तरह से दिखाया गया है जिन मे शामिल है। स्तन कैंसर, आंत्र, गले, फेफड़ा,मूत्राशय, डिम्बग्रंथि, त्वचा और पेट के कैंसर से बचाव में ग्रीन टी पूरे तरह से  सहायक होती है।

तो दोस्तों ग्रीन टी कुछ इस तरह से हमारे शरीर के लिए फायदेमंद साबित होता है तो चलीए अगले टॉपिक की ओर बढ़ते हैं और ग्रीन टी के फायदे होने के कुछ नई जानकारी को प्राप्त करते हैं।

निम्न कोलेस्ट्रोल में कमी

गाइस क्या आपको मालूम है कि आप ग्रीन-टी के नियमित सेवन करने से आप अपने कोलेस्ट्रोल की कम करने में मददगार शाबित हो सकता हैं। हम आप की जानकारी के लिए बता दें कि तकरीबन वर्ष 2011 में प्रकाशित एक विसेसगयो के अध्ययन के विश्लेषण में यह पाया गया है कि हरे रंग की चाय का इस्तेमाल पेय या ग्रीन टी उपयुक्त कैप्सूल के रूप में इस्तेमाल करने से कोलेस्ट्रोल (cholesterol) की मात्रा में कमी पाई गयी है।

तो दोस्तों ग्रीन टी कुछ इस तरह से हमारे शरीर के लिए फायदेमंद साबित होता है तो चलीए अगले टॉपिक की ओर बढ़ते हैं और ग्रीन टी के फायदे होने के कुछ नई जानकारी को प्राप्त करते हैं।

यादाश्त को बढ़ाने में मददगार

गाइस क्या आपको मालूम है कि आप ग्रीन-टी के नियमित सेवन करने से आप अपने यादाश्त को बढ़ाने में मददगार शाबित हो सकता हैं। हम आप की जानकारी के लिए बता दें कि साइकोफार्माकोलॉजी (psychopharmacology) पत्रिका में एक  प्रकाशित शोध से  यह बात पता चला है कि ग्रीन टी हमारे मस्तिष्क के संज्ञानात्मक कामो को बढ़ा देती है।

दोस्तों क्या आपको मालूम है कि ग्रीन टी के सेवन से हम अल्जाइमर (Aljaimar) के रोग के जोखिम को कम किया जा सकता है। इस के अलावा ग्रीन टी के उपयोग से सुजन में कमी, गठिया में सुधार, दांतों को स्वस्थ रखने, तनाव को कम करने में मददगार, त्वचा के अलग अलग रोगों का सुधार और इलाज और इत्यादि को करने में सहायक भी हो सकता है।            

ग्रीन टी का प्रभाव (Green Tea Effects) 

दोस्तों इस टॉपिक के मदद से हम ग्रीन टी के सेवन करने से होने वाली कुछ प्रभाव के बारे में जानने वाले है। ग्रीन टी के अधिक सेवन से पड़ने वाले कुछ समस्याएं से बचने के लिए विशेष सावधानी और चेतावनी है जिनको हमने निम्नलिखित कर के नीचे में बताया है।

खरबूजे के फायदे, उपयोग और नुकसान क्या आप जानते हैं |Muskmelon Benefits, Use and Side Effects in Hindi

गर्भावस्था और स्तनपान

दोस्तों क्या आपको मालूम है कि अगर आप ग्रीन टी का सेवन सीमित मात्रा से अधिक करते हैं तो महिलाओं में गर्भावस्था और स्तनपान दिक्कत हो सकती है हम आपकी जानकारी के लिए बता दे की स्तनपान या गर्भवती करने वाली महिला को प्रतिदिन ज्यदा से जयदा 2 कप से अद्धिक ग्रीन टी का सेवन नहीं करना चाहिए, क्यो कि इस में मौजूद कैफ़ीन (caffeine) से गर्भपात और बच्चों में जन्म दोष का खतरा भी बढ़ सकता है।

तो दोस्तों आपको मेरे हिसाब से इस अवस्था में आप ग्रीन टी का सेवन नहीं करें तो अच्छा है क्योंकि यह आपके स्वास्थ्य के लिए फ़िलहाल हानिकारक साबित हो सकता है

एनीमिया

गाइस क्या आपको मालूम है कि अगर आप प्रिंटिंग का सेवन सीमित मात्रा से अधिक करते हैं तो एनीमिया के रोगियों के लिए दिक्कत हो सकती है हम आपकी जानकारी के लिए बता दे की ग्रीन टी के अत्यधिक सेवन से हमारे शरीर मे एनीमिया का ख़तरा बढ़ सकता है।

तो दोस्तों आपको मेरे हिसाब से इस अवस्था में आप ग्रीन टी का सेवन नहीं करें तो अच्छा है क्योंकि यह आपके स्वास्थ्य के लिए फ़िलहाल हानिकारक साबित हो सकता है

चेहरे से झुर्रियां हटाने के अचूक घरेलू उपाय – झुर्रियां क्यो होता है

चिंता या विकार की समस्या

आपको मालूम है कि अगर आप प्रिंटिंग का सेवन सीमित मात्रा से अधिक करते हैं तो चिंता या विकार की समस्य के लिए दिक्कत हो सकती है हम आपकी जानकारी के लिए बता दे की ग्रीन टी में मौजूद ज्यदा कैफ़ीन (caffeine) मानसिक चिंता या विकार की परेशानी बढ़ा सकता है।

तो दोस्तों आपको मेरे हिसाब से इस अवस्था में आप ग्रीन टी का सेवन नहीं करें तो अच्छा है क्योंकि यह आपके स्वास्थ्य के लिए फ़िलहाल हानिकारक साबित हो सकता है।

रक्तस्त्राव की समस्या

आपको मालूम है कि अगर आप प्रिंटिंग का सेवन सीमित मात्रा से अधिक करते हैं तो रक्तस्त्राव की समस्या के लिए दिक्कत हो सकती है हम आपकी जानकारी के लिए बता दे की ग्रीन टी में मौजूद कैफ़ीन (caffeine) की मौजूदगी ह्रदय समस्या,मधुमेह, खून के बहाव और ज़िगर की बीमारी की समस्या को बढ़ा सकती है।

तो दोस्तों आपको मेरे हिसाब से इस अवस्था में आप ग्रीन टी का सेवन नहीं करें तो अच्छा है क्योंकि यह आपके स्वास्थ्य के लिए फ़िलहाल हानिकारक साबित हो सकता है।

कमज़ोर हड्डियाँ

आपको मालूम है कि अगर आप प्रिंटिंग का सेवन सीमित मात्रा से अधिक करते हैं तो रक्तस्त्राव की समस्या के लिए दिक्कत हो सकती है हम आपकी जानकारी के लिए बता दे की ग्रीन टी पीने से हमारि शरीर मे कैल्सियम (calcium) की मात्रा काफी हद तक बढ़ जाती है जो मूत्र में पूरी तरह से फ़ैल जाती है और जो हमारे शरीर के लिए नुकसानदायक होता है।

तो दोस्तों आपको मेरे हिसाब से इस अवस्था में आप ग्रीन टी का सेवन नहीं करें तो अच्छा है क्योंकि यह आपके स्वास्थ्य के लिए फ़िलहाल हानिकारक साबित हो सकता है।

Vinegar क्या है? What is Vinegar meaning in hindi |Vinegar के फायदे और नुकसान

ग्रीन टी का नुकसान

ग्रीन टी अपेक्षाकृत अधिकतर वयस्कों के लिए सुरक्षित होती है लेकिन कुछ लोगो में हरी चाय पेट में यह कब्ज और अपच जैसी समस्या पैदा कर सकती है. इसको सीमित मात्रा में अगर इस्तेमाल किया जाता है तो यह सुरक्षित है लेकिन अधिक मात्रा में इसका सेवन असुरक्षित है।

कैफ़ीन (caffeine) की कारण से इस का दुष्प्रभाव हल्के से गंभीर भी हो सकता है और इस वजह से सिरदर्द, नींद की समस्या, घबराहट, चक्कर आना और कम्पन जैसी समस्या हो सकती है. हरी चाय में कैफ़ीन की खुराक 10 से 14 ग्राम तक घातक हो सकती है। 

तो दोस्तों आपको मेरे हिसाब से इस ग्रीन टी का सेवन सीमित मात्रा में ही करें तो अच्छा है क्योंकि यह आपके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक साबित हो सकता है।

तो दोस्तों यही थे कुछ ग्रीन टी के नुकसान तो चली अगले टॉपिक की ओर बढ़ते हैं और ग्रीन टी से जुड़ी कुछ नई जानकारी को प्राप्त करते हैं।

हींग के फायदे और नुकसान | Benefits of Asafoetida in Hindi | Asafoetida Meaning in Hindi

ग्रीन टी के सेवन का तरीका (How to Drink Green Tea)

दोस्तों इस टॉपिक की मदद से हम आपको बताने वाले हैं कि आखिर किस तरह से ग्रीन टी का सेवन किया जाता है और किस तरह से ग्रीन टी बनाया जाता है तो चलिए शुरू करते हैं इस टॉपिक को बिना देरी किए हुए हमने सभी तरीके को नीचे में स्टेप बाय स्टेप करके लिखा है तो आप उन्हें ध्यान से पढ़े और समझे और तब बनाएं

दोस्तों आपको ग्रीन टी बनाने के लिए सबसे पहले आपको तकरीबन 1 छोटा चम्मच हरी चायपत्ती यानी कि ग्रीन टी लेना है, एक कप पानी को तकरीबन 80 डिग्री सेल्सियस पर गर्म कर लेना है, फिर इसे अच्छे तरह से छान कर के आप चाय का स्वाद ले सकते है यह चाय पूरी तरह से सुगर फ्री है आप इस बात का ध्यान जरूर दे कि इसे ज्यादा न खौलाए नहीं तो यह स्वाद में कड़वा  भी लग सकता है।

दोस्तों ग्रीन टी की महीन पावडर को सादे पानी के साथ पूरी तरह से मिला कर के गर्म कर ले, फिर उस मे नींबू और शहद का रस डाल कर आप इसे स्वादिष्ट और पौष्टिक चाय बना कर के उसका आनंद भी ले सकते है। अगर आपको अदरक वाली ग्रीन टी पीना पसंद है और आप उसे बनाना चाहते है तो उस के लिए आपको सबसे पहले अदरक और पानी को डाल कर अच्छे तरह से गर्म कर लें,

फिर उस मे ग्रीन टी एक छोटी चम्मच से 1 चम्मच डाल कर गैस को बंद कर दे और आप को अब थोड़ी देर के लिए चाय को ढँक कर छोड़ दे, उस के बाद इस को छान कर आप इस का भी मजेदार स्वाद चख सकते है।

दोस्तों अगर आप को मीठा चाय पसंद है तो आप ग्रीन टी में चीनी का भी उपयोग कर सकते है, लेकिन अगर ग्रीन टी को बिना चीनी मिलाये पिया जाये तो यह ज्यादा लाभकारी होता है हमारे शरीर के लिए।  तो दोस्तों यही कुछ ग्रीन टी बनाने के तरीके हैं जिनको हमने स्टेप बाय स्टेप करके आपको अच्छे से समझा दिया है।

ओट्स क्या है? और ओट्स और दलिया में अंतर | What is Oats in Hindi and Benefits, Uses, difference in Hindi

[ Conclusion, निष्कर्ष ]

दोस्तों आशा करता हूं कि आपको मेरा यह लेख ग्रीन टी के गुण फायदे एवम उपयोग और नुकसान (Green tea health benefits In Hindi) आपको बेहद पसंद आया होगा और आप इस लेख की मदद से वह सभी जानकारी को पूरे विस्तार से प्राप्त कर चुके होंगे जिसके लिए आप हमारे वेबसाइट पर आए थे।

हमने इस लेख में सरल से सरल भाषा का उपयोग करके आपको ग्रीन टी के फायदे एवम उपयोग और नुकसान से जुड़ी सभी जानकारी बताने की कोशिश की है क्योंकि हमें मालूम है आज भी कई सारे ऐसे लोग हैं जो जानना चाहते हैं कि आखिर ग्रीन टी के फायदे और नुकसान क्या होता है दोस्तो हम लोग इस आर्टिकल में ग्रीन टी पीने के बहुत सारे फायदे बताए हैं और यह भी बताया है की ग्रीन टी के सेवन करने से आपको कौन-कौन सी बीमारियों से बचने में सहायता मिल सकता है।

इसके अलावा हमने इस आर्टिकल में  यह भी बताया है कि ग्रीन टी के अधिक मात्रा में पीने से नुकसान क्या क्या हो सकता है और इस प्रकार हमने इस आर्टिकल में ग्रीन टी से जुड़ी सभी जानकारियों को देने की प्रयास की है ।

तो दोस्तों यदि आप हमारे इस आर्टिकल को पूरे अब तक पढ़े होंगे तो  हमें उम्मीद है कि आप हमारे इस आर्टिकल में बताए गए सभी ग्रीन टी के फायदे और  नुकसान से जुड़ी सभी जानकारियों को प्राप्त कर चुके होंगे  और आप जान चुके होंगे कि ग्रीन टी के सेवन करने से फायदे और नुकसान क्या-क्या  हो सकते हैं।

अगर दोस्तों आपको इस पोस्ट में कहीं भी कोई भी किसी भी तरह को,पढ़ने में या किसी भी चीज में कोई भी दिक्कत हुई होगी तो आप हमारे कमेंट बॉक्स में बेझिझक कुछ भी सवाल पूछ सकते हैं।

हमारी समूह आपकी मैसेज के रिप्लाई जरूर देगी और आप यह भी कमेंट में जरूर बताएं कि ग्रीन टी के गुण फायदे एवम उपयोग और नुकसान (Green tea health benefits In Hindi) पर यह पोस्ट आपको कैसा लगा ताकि हम आपके लिए दूसरे पोस्ट ऐसे ही लाते रहे। तो चलिए दोस्तों इसी जानकारी के साथ हम अब इस लेख को समाप्त करते हैं और अगर आपको हमरा यह पोस्ट को पढ़ने के लिए दिल से धन्यवाद………

कलौंजी के सभी फायदे और उसके नुकसान | Kalonji Benefits and Side Effects in Hindi

3 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Exit mobile version