नमस्कार दोस्तों आशा करता हूं आप बिल्कुल ठीक होंगे आपका हार्दिक स्वागत है हमारे इस लेख में आज के इस लेख के मदद से अपने हस्तरेखा का संपूर्ण ज्ञान हाथ की रेखा की जानकारी Hast Rekha Gyan in hindi के बारे में संपूर्ण जानकारी पूरे विस्तार से जानने वाले हैं। दोस्तों आप को तो मालूम ही होगा कि लोग अपने दिनचर्या में कई सारे अलग-अलग तरह के काम करते रहते हैं। 

और उन्हें अपने बारे में जानने का मौका ही नहीं मिलता है कि आखिर वह क्या कर रहे हैं लोग अपनी भागदौड़ की जिंदगी में इतना व्यस्त हो जाते हैं कि वह अपने ऊपर ध्यान ही नहीं दे पाते हैं। और अपने आप को समझ नहीं पाते हैं लोग अक्सर अपनी  भाभिस्य और भूतकाल को लेकर के चिंतित रहते है।

क्योंकि उन्हें चिंता रहता है कि आखिर हमारे फ्यूचर यानी भविष्य काल में क्या होने वाला है और हमारी जीवन कैसे व्यतीत होगी और वह भी सोचते रहते हैं । कि हमने जो भूतकाल यानी कि पीछे के समय में काम किया है वह हमारे लिए अच्छे साबित होगा या नहीं इसके लिए वह कई कई बार ज्योतिषी से अपना हाथ भी दिखाते हैं और अपने हस्त रेखाओं के द्वारा समझना चाहते हैं। कि आखिर हमारे जीवन में आगे क्या होने वाला है और जो काम हमने पीछे किया है वह हमारे लिए सही साबित होने वाला है या नहीं।

दोस्तों कहीं कहीं बाहर तो ज्योतिष के द्वारा बताया गया बात सही भी हो जाते हैं और कई कई बार वह गलत भी साबित हो जाते हैं ऐसा नहीं है कि विज्ञान भी हस्त रेखाओं पर संपूर्ण तरफ से विश्वास करता है और उसे मानता है इसके बारे में थोड़ा बहुत जिक्र विज्ञान में किया गया है समझने के लिए मगर इसे पूर्ण रूप से अभी समझा नहीं गया है।

कई सारे लोग ऐसे होते हैं जो यह समझ नहीं पाते हैं कि हस्त रेखाओं पर उन्हें विश्वास करना चाहिए या नहीं यह सच होते हैं या नहीं और इसके बारे में उनका हमेशा ख्याल रहता है। कि आखिर  हस्त रेखाओं की ज्ञान क्या है और हस्त रेखाएं क्या होती है और हस्त रेखाएं की द्वारा बताई गई बात सही होती है या नहीं अपनी हथेली पर खींची गई लकीर यानी कि  हस्त रेखाएं पर लिखी हुई बातों को कैसे समझा जाता है ।

और हस्त रेखाओं को किस तरह से पढ़ा जाता है तो दोस्तों इन सभी ही सवालों का जवाब देने के लिए ही हमने इस लेख को को लिखा है। और इस लेख में हम ने आपको हस्त रेखाएं से जुड़ी सभी ज्ञान देने की कोशिश की है अगर आप सच में हस्त रेखाएं से जुड़ी सभी जानकारी को प्राप्त करना चाहते हैं तो आप से मेरा यह अनुरोध है। कि आप मेरे इस लेख को ध्यान से पूरे अंत तक पढ़े तभी आपको मेरा यह लेख अच्छे से समझ में आएगा और आप इसके बारे में जान पाएंगे तो चलिए शुरू करते हैं इस लेख को बिना देरी किए हुए।

सूर्य नमस्कार कैसे करें व इसके फायदे | Surya Namaskar Benefits And precautions In Hindi

हस्त रेखा ज्ञान क्या होता है, ( what is hast rekha in Hindi)

What Is the M line On Your Palm? | HelloGiggles

दोस्तों अगर आप के मन में यह सवाल है कि आखिर हस्त रेखा ज्ञान क्या होता है, तो आप हमारे इस टॉपिक के साथ अंत तक बने रहिए क्योंकि इस टॉपिक में हम इसी पर विचार विमर्श करने वाले हैं। तो चलिए शुरू करते हैं इस टॉपिक को बिना देरी किए हुए हम आप की जान कारी के लिए बता दे की हस्त रेखा ज्ञान वो विज्ञान को कहते है। जिस मे हाथों की रेखाएं की दशा को देख कर व्यक्ति का आने वाला भविष्य बता सकते है। 

भारत समेत कई देशो के लोग इस में विश्वास रखते हैं, दोस्तों आपने अक्सर देखा होगा कि कई लोग अपने हाथों को ज्योतिषी के पास दिखाते रहते हैं। और अपने भविष्य के बातों को जानने की कोशिश करते हैं या अपनी रेखाओं के बारे में जानते हैं तो दोस्तों हस्त रेखाएं हैं एक ऐसी मानव विज्ञान की पढ़ाई या कला है ।

 जिस को देख कर के आप अपने भविष्य का अंदाजा लगा सकते हैं हालांकि यह बात सही है या गलत यह तो हमें भी मालूम नहीं है मगर कई सारे लोग इस पर विश्वास रखते हैं और इस को मानते हैं।वैसे तो विज्ञान भी इस पर थोड़ा थोड़ा विश्वास करता है। और इसको मानता है लेकिन अभी पूर्ण रूप से इसे माना नहीं गया है कुछ लोग अपने ज्ञान के आधार पर इसका चयन करते हैं ।

कि आपके भविष्य में क्या होने वाला है और कैसे होने वाला है और कब होने वाला है तो दोस्तों कुछ इस तरह से हस्त रेखाओं का ज्ञान होता है और हस्तरेखा एक कई प्रकार के होते हैं। तो चलिए अब हम अगले टॉपिक की ओर बढ़ते हैं और इन सभी हस्तरेखा से जुड़ी कुछ नई जानकारी प्राप्त करने की कोशिश करते हैं।

हस्त रेखा किस तरह से होते है।

दोस्तों अगर आप के मन में यह सवाल है कि आखिर हस्त रेखा किस प्रकार से होते है, तो आप हमारे इस टॉपिक के साथ अंत तक बने रहिए क्योंकि इस टॉपिक में हम इसी पर विचार विमर्श करने वाले हैं। तो चलिए शुरू करते हैं इस टॉपिक को बिना देरी किए हुए हम आप की जान कारी के लिए बता दे की

हस्त रेखा विज्ञान के तहत हाथ की हस्त रेखा के आधार पर भूत तथा भविष्य यानी कि बिता हुवा समय और आने वाला समय में होने वाली सभी घंटनाओ का अनुमान लगाया जा सकता है, 

दोस्तों क्या आप को मालूम है कि हमारे हाथ की उँगलियों की बनावट के आधार पर व्यक्ति के काम क्षेत्र, स्वभाव इत्यादि जैसे चोज़ो का आकलन करने में सहायक सिद्ध होती है । आप की हथेली में मुख्य रूप से लगभग सात बड़ी तथा सात छोटी रेखाएं मौजूद होती है जिस मे मुख्य भाग्य रेखा, ह्रदय रेखा, तथा मष्तिष्क रेखा होती है ।

और इन सभी साथ बड़ी रेखाओ के नाम जीवन रेखा, मस्तिष्क रेखा,  ह्रदय रेखा, भाग्य रेखा, सूर्य रेखा, स्वास्थ्य रेखा और अंत मे शुक्र मुद्रिका है। क्या आपको मालूम है कि इस के अतिरिक्त सात छोटी रेखाएं है, जैसे कि  चन्द्र रेखा, मंगल रेखा, विवाह रेखा, निकृष्ट रेखा है तथा तीन मणिबंध रेखाएं होती है । जो हमारे हाथ के हथेली की जड़ और हाथ की कलाई से जुड़ी और स्थित होती है।

अगर आपको मालूम नही है तो हम आपके जानकारी के लिए बता दे कि इन रेखाओ के आधार पर व्यक्ति के वैवाहिक जीवन, उस के मष्तिष्क की दशा, संतान, आने वाली समस्याओं तथा उम्र के विषय में आकलन लगा सकते है ।

 तो दोस्तों कुछ इस तरह से ही हस्तरेखा होता है और उसका पढ़कर के अंदाजा और अनुमान लगाया जाता है तो चलिए अब हम अगले टॉपिक की ओर बढ़ते हैं और हस्तरेखा से जुड़ी कुछ नई जानकारी प्राप्त करने की कोशिश करते हैं।

महत्वपूर्ण बड़ी हस्त रेखा देखने का तरीका (Way to See Important Big Hand Line in hindi)

दोस्तों अगर आप के मन में यह सवाल है कि आखिर महत्वपूर्ण बड़ी हस्त रेखा देखने का तरीका क्या होता है, तो आप हमारे इस टॉपिक के साथ अंत तक बने रहिए क्योंकि इस टॉपिक में हम इसी पर विचार विमर्श करने वाले हैं। तो चलिए शुरू करते हैं इस टॉपिक को बिना देरी किए हुए हम आप की जान कारी के लिए बता दे की हमारे हाथ की हथेली पर कई ऐसे अलग-अलग तरह के हस्त रेखाएं मौजूद होती हैं । जिनका राशि और उनको देख कर के हमारे भविष्य का अंदाजा लगाया जा सकता है।

 तो दोस्तों वैसे तो हमारे हाथ पर कुछ ही महत्वपूर्ण हस्त रेखाएं मौजूद होती है जिन का अंदाजा हम लगा सकते हैं तू दोस्तों हमने इस टॉपिक में आपको बड़ी हस्त रेखाओं की जानकारी और उसे समझने का तरीका बताया है तो आप नीचे में दिए गए सभी टॉपिक को ध्यान से है पूरे अंत तक पढ़े और समझे तभी आपको यह अच्छे से समझ में आएगा।

दुबले-पतले शरीर को मोटा कैसे बनाएं | Ways To Gain Weight

1. ह्रदय रेखा (Heart Line In Hindi)

Heart Line Palmistry – Reading and Meaning

दोस्तों अगर हम हाथ के हस्त रेखाएं के बारे में बात करते हैं तो सबसे ऊपर हृदय रेखा आता है। तो चलिए इसके बारे में थोड़ी बहुत जानकारी प्राप्त कर लेते हैं हम आपकी जानकारी के लिए बता दें, कि यह रेखा सब से छोटी उंगली यानी कि जिसे कनिष्का के नीचे से निकलकर तर्जनी उंगली के बीच तक जाती है, 

क्या आपको मालूम है कि यह रेखा व्यक्ति में अवसाद, स्वभाव, गुण, भावनात्मक स्थिरता,  चिडचिडा स्वभाव, सामाजिक व्यवहार, साहित्य के प्रति प्रेम जैसे बहुत से चीज़े को दर्शाती है। हम आपको यह भी बता दे कि यह हस्त रेखा जितनी लम्बी होती है, वह व्यक्ति सरल और लोकप्रिय होने के साथ साथ मृदुभाषी होता है, 

तथा जीवन में सम्मान तथा अपने जीवन मे  प्रतिष्ठा प्राप्त करता है, दोस्तों यह बात धयन देने वाली है कि जिन लोगो की ह्रदय रेखा छोटी होती है, वह व्यक्ति चिडचिडा, असंतोषी, शंकालु, जैसे प्रवृत्ति के होते है । आमतौर पर ऐसे व्यक्ति की छोटी सोच होती है,

 यह किसी पर उतना जल्दी विश्वास नहीं करते है तथा इस प्रकार के लोगो की आमतौर पर प्रवृत्ति क्रूर होती है। दोस्तों हृदय रेखा कुछ इस तरह से होती है तो चलिए अब हम अगले टॉपिक की ओर बढ़ते हैं और एक नए हस्त रेखा के बारे में जानकारी प्राप्त करते हैं।

2. मस्तिष्क रेखा (Head Line In Hindi)

Palm Reading for Beginners: How to Read Palm Lines | Allure

दोस्तों अगर हम हाथ के हस्त रेखाएं के बारे में बात करते हैं तो मस्तिष्क रेखा नम्बर दो पर आता है। तो चलिए इस के बारे में थोड़ी बहुत जानकारी प्राप्त कर लेते हैं हम आपकी जानकारी के लिए बता दें, कि यह हाथ की दूसरी जरूरी रेखा होती है, इस रेखा की शुरुआत आमतौर ओर तर्जनी उंगली यानी कि बीच के उंगली के नीचे से होती हुई उस से बाहर के किनारे की ओर बढ़ी हुई रहती है | 

आपको मालूम नही है तो हम आपके जानकारी के लिए बता दे कि मस्तिष्क रेखा शुरुआत में जीवन रेखा से जुड़ी हुई होती है। हम आप को बता दे कि यह रेखा प्रायः कभी सीधी तो कभी उसके हल्के नीचे की तरफ होती है। जिस व्यक्ति की मस्तिष्क रेखा जितनी अधिक लम्बी होती है उस व्यक्ति का मानसिक संतुलन उतना ही बेहतरीन होता है, 

आमतौर पर इस प्रकार के लोग भाग्य की अपेक्षा  मेहनत पर बहुत ही अधिक विश्वास करते है इन की स्मरण की शक्ति अच्छी होना, फिर प्रत्येक काम को सोच समझ कर करना, हमेशा कुछ न कुछ सीखने में रूचि यानी कि किसी भी चीज़ के लिए उत्सुक आदि गुण होते है तथा इस के विपरीत यानी कि उल्टा छोटी मष्तिष्क रेखा वाले मेहनत से ज्यादा भाग्य पर विश्वास करते है।

और मानते है ,तथा निर्णय लेने में जल्दबाजी करते है और बाद में पछ ताते है। मस्तिष्क रेखा रेखा कुछ इस तरह से होती है तो चलिए अब हम अगले टॉपिक की ओर बढ़ते हैं और एक नए हस्त रेखा के बारे में जानकारी प्राप्त करते हैं।

3. भाग्य रेखा (Fate Line In Hindi)

दोस्तों अगर हम हाथ के हस्त रेखाएं के बारे में बात करते हैं तो भाग्य रेखा नम्बर दो पर आता है। तो चलिए इस के बारे में थोड़ी बहुत जानकारी प्राप्त कर लेते हैं हम आपकी जानकारी के लिए बता दें, कि Healthy के नीचे के स्थान को मणिबंध कहते हैं, यानी कि भाग्य रेखा मध्यमा और अनामिका के बीच से हो कर के नीचे हथेली की ओर जाती है। 

तो दोस्तों यह रेखा प्रत्येक व्यक्ति के हाथ नहीं होती है। भाग्य रेखा जितनी अधिक स्पष्ट तथा साफ साफ होती है, व्यक्ति का जीवन उतना ही सुगम होता है तथा वह व्यक्ति भाग्य शाली होता है। जिन व्यक्तियों के हाथ के हाथ में यह रेखा पूरी तरह से अस्पष्ट या टूटी हुई होती है, उन्हें जीवन में काफी संघर्ष यानी कि मेहनत करना पड़ता है, तथा जिन जिन व्यक्ति के हाथ में यह रेखा नहीं होती है,

 वह लोग कर्मवादी यानी कि मेहनती होते है, तथा इन का जीवन संघर्ष पूर्ण होता है। दोस्तों क्या आपको मालूम है कि, यदि यह रेखा हथेली के नीचे से हो कर जाती है। तो परिवार के समर्थन से भाग्योदय होता है यदि यह रेखा चंद्र क्षेत्र से हो कर के जाती है ।

तो वह लोग जीवन में दूसरों की सहायता और प्रोत्साहन से आगे बढ़ते है। भाग्य रेखा कुछ इस तरह से होती है तो चलिए अब हम अगले टॉपिक की ओर बढ़ते हैं और एक नए हस्त रेखा के बारे में जानकारी प्राप्त करते हैं। 

टैनिंग दूर करने के घरेलु तरीके | Remove Sun Tanning Home Treatment In Hindi…

4. विवाह रेखा (Marriage Line In Hindi)

Palm Reading Marriage Lines | LoveToKnow

अगर हम हाथ के हस्त रेखाएं के बारे में बात करते हैं तो विवाह रेखा नम्बर दो पर आता है। तो चलिए इस के बारे में थोड़ी बहुत जानकारी प्राप्त कर लेते हैं हम आपकी जानकारी के लिए बता दें, कि विवाह रेखा  कनिष्टा यानी कि छोटी उंगली के नीचे वाले हिस्से में छोटी छोटी रेखाएं होती है, तथा ह्रदय रेखा के बिलकुल समानान्तर होती है।

दोस्तों क्या आपको मालूम है कि इसे प्रेम रेखा भी कहते है, हाथ में विवाह रेखा की संख्या के आधार पर उस व्यक्ति के उतने ही प्रेम सम्बन्ध होते हैं। विवाह रेखा कटी या टूटी होने पर विवाह में मत भेद होने की संभावना होती है। हाथ के हथेली में विवाह रेखा सूर्य पर्वत की ओर जा रही हो या पूर्ण रूप पहुंच गयी हो तो उस का विवाह समृद्ध और सम्पन्न परिवार में होता है।

यदि दोनों हाथों में शादी रेखा एक समान होने पर दोनों का वैवाहिक यानी कि शादी सुधा जीवन बहुत ही खुश हाल होता है तथा सामंजस्य यानी कि सुख दायक बना रहता है। साथ ही यह रेखाए जितनी स्पष्ट होती है, व्यक्ति और इंसान रिश्तों को उतना ही अधिक महत्व देता है। विवाह रेखा कुछ इस तरह से होती है, तो चलिए अब हम अगले टॉपिक की ओर बढ़ते हैं और एक नए हस्त रेखा के बारे में जानकारी प्राप्त करते हैं। 

5. संतान रेखा (Child Line In Hindi)

You are considered lucky parents if you have these lines on your palm,  Lifestyle News - AsiaOne

अगर हम हाथ के हस्त रेखाएं के बारे में बात करते हैं तो संतान रेखा नम्बर दो पर आता है। तो चलिए इस के बारे में थोड़ी बहुत जानकारी प्राप्त कर लेते हैं हम आपकी जानकारी के लिए बता दें, कि संतान की रेखा विवाह रेखा के पूरे अंत में ऊपर की ओर जाती हुई प्रतीत होती है। 

क्या आपको मालूम है कि विवाह रेखा पर खड़ी तथा सीधी रेखा संतान एवं टेढ़ी-मेढ़ी रेखा पुत्री का संकेत पूर्ण रूप से देती है। संतान रेखा जितनी अधिक स्पष्ट तथा उभरी हुई होती है तो उस पुत्र के द्वारा अधिक सुख तथा प्रेम की प्राप्ति होती है।

तो दोस्तों इसी कारण वश किसी एक संतान से अधिक लगाव होता है, तथा उस संतान से बा की की संतानों की अपेक्षा अधिक सुख की बेहतरीन प्राप्ति होती है। इस रेखा पे ध्यान दे कर के आप अपने पुत्र से जुड़ी जानकारी को प्राप्त कर सकते है। संतान रेखा कुछ इस तरह से होती है, तो चलिए अब हम अगले टॉपिक की ओर बढ़ते हैं और एक नए हस्त रेखा के बारे में जानकारी प्राप्त करते हैं। 

6. विद्या रेखा (Learning Line In Hindi)

अगर हम हाथ के हस्त रेखाएं के बारे में बात करते हैं तो विद्या रेखा नम्बर दो पर आता है। तो चलिए इस के बारे में थोड़ी बहुत जानकारी प्राप्त कर लेते हैं हम आपकी जानकारी के लिए बता दें, कि इस विद्या रेखा की शुरुआत अनामिका और मध्यमा उंगली के मध्य से होती है। 

यह विद्या रेखा आमतौर पर अनामिका उंगली की ओर हल्की झुकी हुई होती है। जिन लोगों के हाथ में यह रेखा होती है वह निर्धन होने के बाद भी अच्छी शिक्षा प्राप्त करते हैं।  साथ ही साथ बुद्धिमान और ज्ञानी होते हैं तथा अपनी बुद्धि से sucess यानी कि सफलता प्राप्त करते हैं । 

यदि किसी इंसान की हाथ की हथेली में विद्या रेखा पर क्रॉस यानी कि X का निशान हो तो वह व्यक्ति पढ़ाई में अच्छा नहीं होता है। विद्या रेखा कुछ इस तरह से होती है, तो चलिए अब हम अगले टॉपिक की ओर बढ़ते हैं और एक नए हस्त रेखा के बारे में जानकारी प्राप्त करते हैं। 

7. यात्रा रेखा (Travel Line In Hindi)

दोस्तों अगर हम हाथ के हस्त रेखाएं के बारे में बात करते हैं तो यात्रा रेखा ऊपर कर  लिस्ट में आता है। तो चलिए इस के बारे में थोड़ी बहुत जानकारी प्राप्त कर लेते हैं हम आप की जानकारी के लिए बता दें, कि यात्रा रेखा हमारी हथेली पर तीन स्थानों पर उपलब्ध होती है, सब से पहले चन्द्र-क्षेत्र पर, दूसरा मणि बन्ध से प्रारम्भ हो कर ऊपर को जाती हुई प्रतीत होती है, 

क्या आपको मालूम है तीसरा जीवन रेखा से होते हुए निकलने वाली तथा उसी के सहारे चलने वाली रेखाएँ यात्रा रेखा होती है । दोस्तों यदि यह रेखा ऊपर की ओर जाती हुई प्रतीत होती है, 

तो यात्रा से बढ़ोतरी होती है तथा यह रेखा आमतौर पर भाग्य-रेखा एक में मिल कर अधिक गहरी रेखा हो जाने पर यह कही भी यात्रा के अंत र्गत भाग्य में उन्नति होती है। यात्रा रेखा कुछ इस तरह से होती है, तो चलिए अब हम अगले टॉपिक की ओर बढ़ते हैं और एक नए हस्त रेखा के बारे में जानकारी प्राप्त करते हैं। 

अनचाहे बाल हटाने के घरेलु नुस्खे और उपाय | Unwanted hair removal gharelu nuskhe…

अन्य महत्वपूर्ण रेखाएं (Other Important Lines In Hindi)

दोस्तों अगर आप के मन में यह सवाल है कि आखिर अन्य महत्वपूर्ण रेखाएं कौन कौन है, तो आप हमारे इस टॉपिक के साथ अंत तक बने रहिए क्योंकि इस टॉपिक में हम इसी पर विचार विमर्श करने वाले हैं। तो चलिए शुरू करते हैं इस टॉपिक को बिना देरी किए हुए हम आप की जान कारी के लिए बता दे की हमने सभी अन्य महत्वपूर्ण रेखाएं रेखाएं के बारे मे नीचे में स्टेप बाई स्टेप कर के लिखा है तो आप उन्हें ध्यान से पढ़े और समझे।

स्वास्थ्य रेखा

 स्वास्थ्य रेखा सब से छोटी उंगली कनिष्का से प्रारम्भ हो कर हथेली के नीचे की ओर जाती हुई प्रतीत होती है। यह रेखा जितनी अधिक स्पष्ट होती है, उस व्यक्ति का स्वास्थ्य उतना ही अधिक जयदा उत्तम होता है। तो दोस्तों कुछ इस प्रकार से स्वास्थ्य रेखा होता है।

सूर्य रेखा

दोस्तों अगर हम अन्य महत्वपूर्ण रेखाएं के बारे में बात करे तो सूर्य रेखा सब से ऊपर की लिस्ट मे नाम होता है। यह रेखा आमतौर पर चन्द्र पर्वत से प्रारम्भ हो कर के अनामिका ऊँगली तक जाती है सूर्य रेखा वाला व्यक्ति स्वाभिमानी, द्रढ़ इच्छाशक्ति, निडर, वाला होता है, साथ ही नेतृत्व प्रिय होते है और यह जीवन में हार नहीं मानते है। तो दोस्तों कुछ इस प्रकार से सूर्य रेखा होता है।

शुक्र मुद्रिका

दोस्तों अगर हम अन्य महत्वपूर्ण रेखाएं के बारे में बात करे तो शुक्र मुद्रिका सब से ऊपर की लिस्ट मे नाम होता है। यह रेखा कनिष्का और अनामिका के मध्य से शुरुवाती होती है, तथा यह तर्जनी और अनामिका के मध्य में चंद्राकार रूप में होती है। यह रेखा विलासी, खर्चीले, कामुक, तथा भौतिकता वादी लोगो की हाथ के हथेली में पाई जाती है। तो दोस्तों कुछ इस प्रकार से शुक्र मुद्रिका होता है। क्या आप को मालूम है कि इस का बहूत अहम रोल है हमारे भाभिस्य के बारे में जानने के लिए।

मंगल रेखा

दोस्तों अगर हम अन्य महत्वपूर्ण रेखाएं के बारे में बात करे तो मंगल रेखा सब से ऊपर की लिस्ट मे नाम होता है। यह मंगल रेखा जीवन रेखा तथा अंगूठे के मध्य से निकलती है तथा मंगल पर्वत तक जाती है। यह मंगल रेखा जितनी अधिक स्पस्ट होती है, वह व्यक्ति तीव्र बुद्धि, लक्ष्य, सद्गुण के प्रति बहुत ही जुझारू तथा प्रत्येक काम को सोच समझ कर करने वाला होता है, तथा सोचें गए काम को पूरा कर के ही रहता है। तो दोस्तों कुछ इस प्रकार से मंगल रेखा होता है।

सिरदर्द के कारण ओर घरेलु उपाय

चन्द्र रेखा

दोस्तों अगर हम अन्य महत्वपूर्ण रेखाएं के बारे में बात करे तो चन्द्र रेखा सब से ऊपर की लिस्ट मे नाम होता है। यह रेखा अनामिका और कनिष्का के मध्य से होकर नीचे मणिबंध तक जाती हुई प्रतीत होती है। इस चन्द्र रेखा का आकार धनुषा कार होता है तथा यह रेखा प्रेरणा दायक तथा उन्नति पूर्ण होती है। यह व्यक्ति व्यवहार मिलनसार और कुशल होते है।तो दोस्तों कुछ इस प्रकार से चन्द्र रेखा होता है।

निकृष्ट रेखा

दोस्तों अगर हम अन्य महत्वपूर्ण रेखाएं के बारे में बात करे तो निकृष्ट रेखा सब से ऊपर की लिस्ट मे नाम होता है। यह रेखा दुःख और समस्या तथा कष्टदायी होती है, इस लिए इसे निकृष्ट रेखा कहते है। क्या आप को मालूम है कि यह चन्द्र रेखा की ओर से बढ़ती तथा स्वास्थ रेखा के साथ शुक्र स्थान में अच्छी तरह से प्रवेश करती है। तो दोस्तों कुछ इस प्रकार से निकृष्ट रेखा होता है। आमतौर पर इन सभी रेखाओं का जयदा अर्थ नही होता है। मगर इन छोटी छोटी रेखाओं से मिल कर के बडा अर्थ बन जाता है। तो अब हम इस लेख के साथ अल्पविराम देते है।

[ Conclusion , निष्कर्ष ]

दोस्तो आशा करता हूं कि आप को मेरा यह हस्त रेखा का संपूर्ण ज्ञान हाथ की रेखा की जानकारी Hast Rekha Gyan in hindi पर लेख आप को बेहद पसंद आया होगा और आप इस लेख की मदद से वह सभी जानकारी को पूरे विस्तार से जान चुके होंगे जिस के लिए आप हमारे वेबसाइट पर आए थे। हम ने इस लेख में सरल से सरल भाषा का उपयोग कर के आप को हाथ की रेखा से जुड़ी सभी जानकारी को देने की कोशिश की है क्योंकि हमें मालूम है कि कई सारे लोग ऐसे भी हैं।  

जो जानना चाहते हैं और हाथ की रेखा के बारे में समझना चाहते है। कि आखिर हस्त रेखाओं की ज्ञान क्या है और हस्त रेखाएं क्या होती है और हस्त रेखाएं की द्वारा बताई गई बात सही होती है या नहीं अपनी हथेली पर खींची गई लकीर यानी कि  हस्त रेखाएं पर लिखी हुई बातों को कैसे समझा जाता है ।

और हस्त रेखाओं को किस तरह से पढ़ा जाता है। तो दोस्तों हम सभी ने मिल कर के आप की यही सवाल का जवाब देने के लिए इस लेख को लिखा है ।

और इस लेख में हाथ की रेखा से जुड़ी सभी जानकारी को स्टेप बाई स्टेप लिख कर के आप को बताने की कोसिस की है। आप सभी दोस्तों पर मेरा संपूर्ण विश्वास है कि आप सभी मेरे इस लेख को ध्यान से पूरे अंत तक पढ़ चुके होंगे और हाथ की रेखा से जुड़ी सभी जान कारी को प्राप्त कर चुके होंगे। अगर दोस्तों आप को इस पोस्ट में कहीं भी कोई भी किसी भी तरह को,पढ़ने में या किसी भी चीज में कोई भी दिक्कत हुई होगी।

तो आप हमारे कमेंट बॉक्स में बेझिझक कुछ भी सवाल पूछ सकते हैं। हमारी समूह आप की मैसेज के रिप्लाई जरूर देगी और आप यह भी कमेंट में जरूर बताएं कि हस्तरेखा का संपूर्ण ज्ञान हाथ की रेखा की जानकारी Hast Rekha Gyan in hindi पर यह पोस्ट कैसा लगा ताकि हम आपके लिए दूसरे पोस्ट ऐसे ही लाते रहे। तो चलिए दोस्तों इसी जानकारी के साथ हम अब इस लेख को समाप्त करते हैं और अगर आपको हमारा यह पोस्ट को पढ़ने के लिए दिल से धन्यवाद………

कमर दर्द का कारण एवं घरेलू इलाज

Previous articleनिम्बू के फायदे और नुकसान | Lemon Health Benefits in Hindi
Next articleसेब खाने के फायदे और नुकसान | Apple health benefits and Side Effects in Hindi

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here