नमस्कार दोस्तों स्वागत है आपका इस आर्टिकल में दोस्तों इस आर्टिकल में हम बात करने वाले हैं किसान दिवस के बारे में दोस्तों जैसा कि हम लोग जानते हैं कि हमारे देश में बहुत सारे लोग किसान है और बहुत सारे लोग अपने गांव में खेती करते हैं  लेकिन दोस्तों बहुत सारे किसान आज भी ऐसे हैं जिनको गरीबी में गुजारा करना पड़ता है और उनको अपने अनाज की सही कीमत भी नहीं मिलती है । 

यही कारण है कि हमारे देश में बहुत सारे किसान आज भी आत्महत्या कर लेते हैं औ  बहुत सारी किसान है ऐसे भी हैं जो अपने घर को अच्छे से नहीं चला पाते हैं और गरीबी में गुजारा करते हैं। 

इन्हीं किसानों को उत्साह बढ़ाने के लिए और उन्हें अपने काम के प्रति प्रेरित करने के लिए  पूरा भारत देश में 23 December किसानों के लिए किसान दिवस मनाया जाता है।

दोस्तों अगर आप भी जानना चाहते हैं कि किसान दिवस क्यों मनाया जाता है और किसान दिवस कब मनाया जाता है तो आप हमारे इस आर्टिकल को पूरा अंत तक पढ़ सकते हैं क्योंकि हम लोग इस आर्टिकल में किसान दिवस से जुड़ी सारी बातों पर चर्चा करेंगे और विस्तार से बताएंगे कि किसान दिवस का महत्व क्या है राष्ट्रीय किसान दिवस के इतिहास, किसान दिवस कब मनाया जाता है और आर्टिकल के अंत में हम लोग बात करेंगे कि किसान दिवस मनाने का उद्देश्य क्या होता है । 

और किसान दिवस निबंध, तो दोस्तों अगर आप इन सारी जानकारियों के बारे में जानना चाहते हैं तो हमें आपसे अनुरोध है कि आप हमारे इस आर्टिकल को पूरा जरूर पड़े तभी आप को किसान दिवस के बारे में संपूर्ण जानकारी मिल पाएगा। दोस्तों चलिए अब इस आर्टिकल को शुरू करते हैं और जानते हैं किसान दिवस के बारे में विस्तार से।

Nathuram Godse Biography in Hindi

किसान दिवस का महत्व

राष्ट्रीय किसान दिवस 23 दिसंबर को पूरे भारत देश में  मनाया जाता है जिसे किसान दिवस के नाम से जाना जाता है, इस दिन को भारत के प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति और भारत के सभी राजनीतिक और नागरिकों लोगों द्वारा सम्मान और गर्व के तरीके से मनाया जाता है। देश किसानों पर निर्भर है क्योंकि किसान ही हैं जो फसल उगाते हैं और आज हम जीवित हैं तो देश के  सैनिकों और किसानों का एक बड़ा हिस्सा है और हमें अपने दिल की गहराई से उन पर गर्व होना चाहिए।

दोस्तों जैसा कि हम  सभी लोग जानते हैं कि हमारे देश में बहुत सारे लोग हैं जो कि किसान है। और किसान वाले देश में रहने की वजह से हमारा एक दायित्व है कि हम सारे किसान भाइयों के बारे में और किसानों के दिक्कतों के बारे में जाने और उसे बेहतर करने की कोशिश करें।

लेकिन इस देश में बहुत सारे लोग ऐसे हैं जो किसान भाइयों के खेती करने और फसल उगाने के बीच आने वाले दिक्कतों और परेशानियों के बारे में कुछ भी नहीं जानते हैं लेकिन यह जानना काफी आवश्यक है कि किसान हमारे लिए कितना कुछ करते हैं और उन्हीं की वजह से आज हम खाना भी मिल पाता है खा पाते हैं।

लेकिन यह बहुत दुख वाली बात है कि किसानों को इतना ज्यादा मेहनत करने के बाद भी उनकी मेहनत की पैसा नहीं मिलता है और उनको अपना आनाज बहुत कम दाम में बेचना पड़ता है। और काफी किसान ऐसे हैं जिनकी पैदावार अच्छी नहीं हो पाती है और वह खेती से अपना घर भी नहीं चला पा रहे हैं  इसलिए हमें इन किसानों के बारे में सोचना चाहिए।  और हमें इन समस्या का समाधान  निकालने का प्रयास करना  चाहिए।

हम अपने घर में सभी सुख सुविधाओं के साथ सबसे अच्छा जीवन जी रहे हैं, हमारे देश में कई प्रधान मंत्री थे जो किसान की मदद करने और उनके जीवन को बेहतर बनाने के लिए आए थे,  क्योंकि कई किसान साहूकारों द्वारा शोषण और किसानों की आत्महत्या करते हैं । 

और यह आज के समय में देश में अधिक समस्याग्रस्त मुद्दा बन गया है, खाद्यान्न या माल की खरीद में कई दलाल हैं इसलिए किसान को उनके फसल का उचित मूल्य नहीं दिया जाता है और यह पहले के बजाय अधिक समस्याग्रस्त हो जाता है हैट हमें उन किसानों के लिए अधिक राशि देनी चाहिए जो देश के कल्याण के लिए बहुत अधिक पीड़ित हैं।

दिनेश शर्मा का जीवन परिचय | Dinesh Sharma Biography in hindi

किसान दिवस क्यों मनाया जाता है

यह दिन भारत के पांचवें प्रधान मंत्री चौधरी चरण सिंह के गरीब परिवार से होने के बाद मनाया जाता है, उनके जन्मदिन को राष्ट्रीय किसान दिवस के रूप में मनाया जाता है और ऐसा इसलिए है क्योंकि चरण सिंह किसानों से बहुत प्रभावित थे और वह किसानों के मेहनत और लगन को सलाम करते थे क्योंकि वे किसानों के जिंदगी में आने वाली सारी समस्या के बारे में जान रहे थे।

और हम आपको बता दें कि चौधरी चरण सिंह के पिता भी एक किसान थे, इसलिए उन्होंने लोगों को नागरिकों के जीवन में किसानों के महत्व के बारे में काफी समझाएं थे और उन्होंने सबके सामने किसान के महत्व को को साझा किया, यह किसान दिवस ज्यादातर देश के सभी हिस्सों में मनाया जाता है, ज्यादातर उस देश में जहां अधिक कृषि गतिविधि होती है।

पंजाब, उत्तर प्रदेश, और  इसके अलावा भारत में और कई सारी जगहों  पर  किसान दिवस के के दिन किसान की  समस्याओं पर विचार विमर्श किया जाता है।

इस किसान दिवस के मौके पर कई कार्यक्रम मनाए जाते हैं, जिनमें सभी किसान  मौजूद होते हैं, और  इस कार्यक्रम में किसान की कई समस्याओं पर चर्चा की जाती है जिनका सामना वे करते हैं ।

और सभी समस्याओं के लिए अंत में लोगों द्वारा कुछ समाधान निकाले जाते हैं और  भारत सरकार भी किसानों के सभी कार्यों और किसानों के लिए ऋण प्रणाली का समर्थन करती है, इसलिए सभी लोगों ने भी अपने प्रयास किए। यह किसानों लोगों को सम्मान दें और अच्छा महसूस कराएं। क्योंकि लोग भी दान देकर किसानों का समर्थन करते हैं।

उत्तर प्रदेश में लगभग 26 से  27 कृषि केंद्र हैं जहां उनके किसानों को खेती की गतिविधि और खेती के लिए और खेत में अच्छी पैदावार के लिए नई तकनीक के बारे में सोचा जाता है।

गतिविधियों, और यह कृषि क्षेत्र को और अधिक विकसित बनाता है, इसलिए हमें हमेशा मूल्य को विकसित करना चाहिए कि किसान हर किसी के जीवन में बहुत महत्वपूर्ण हैं और सरकार को किसानों और कृषि स्थल को अधिक महत्व देने के लिए पहल करनी चाहिए क्योंकि कृषि हमारे देश के एक महत्वपूर्ण अंग है और देश की रीढ़ है। जिनके बिना  देश चलाना असंभव है। तो चलिए अब हम अगले टॉपिक में किसान दिवस से जुड़ी कुछ और जानकारी को प्राप्त करते है।

Aurangzeb biography in Hindi – औरंगजेब की सम्पूर्ण जीवनी 

राष्ट्रीय किसान दिवस के इतिहास (History of National Farmers Day)

Kisan Diwas 2020: Why National Farmers' Day is observed in India on  December 23?

इस राष्ट्रीय किसान दिवस का आयोजन देश के पूर्व माननीय प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह के सम्मान में किया जाता हैं. दोस्तों हम आपकी जानकारी के लिए बता दूं कि चौधरी चरण सिंह भारत के पाँचवे प्रधानमंत्री थे। 

हालांकि चौधरी चरण सिंह  ने केवल 28 जुलाई 1979 से लेकर 14 जनवरी 1980 तक ही ये  प्रधानमंत्री का पदभार सम्भाला था, लेकिन इस दौरान ही चरण सिंह ने  सारे किसान भाइयों के हितों को ध्यान में रखते हुए बहुत सी नीतियाँ बनाई थी । 

चौधरी चरण सिंह की बहुत सी नीतियाँ ना केवल किसानों के हितों की रक्षा करती थी बल्कि उन्हें एकजुट करके जमीदारों से लड़ने को प्रेरित भी करती थी.

चौधरी चरण सिंह ने “जय जवान-जय किसान” का वास्तविक रूप में अनुसरण किया था. वो एक महान  लेखक भी थे और चरण सिंह ने अपने लेखन के हुनर का उपयोग किसानों की समस्याओं और उनके समाधान की किताबों को लिखने में उपयोग किया था । 

और इस तरह चौधरी चरण सिंह ने कृषकों के जीवन स्तर को सुधारने के बहुत प्रयास किये थे. देश के आम किसानों के बीच सदा लोकप्रिय रहे इस नेता की जयंती को ही किसान दिवस के रूप में मनाना निर्धारित किया गया हैं. ये बात हर कोई जानता हैं कि किसान ही देश का एक महत्वपूर्ण अंग है और मेरुदंड हैं इसलिए इनके हितों की रक्षा करना बेहद आवश्यक हैं ।

इस तरह किसान पृष्ठभूमि के चौधरी चरण सिंह के सम्मान में मनाया जाने वाला ये दिन भारतीयों के मन में  सभी किसानों भाइयों के लिए सम्मान को बढाता है।

किसान नेता चौधरी चरण सिंह ने 28 जुलाई 1979 से 14 जनवरी 1980 तक बहुत कम समय के लिए देश की सेवा की। लेकिन उन्होंने इस कम ही समय में किसानों के लिए बहुत अच्छा काम किया।

उन्होंने सारे किसानों के लिए बहुत सारे कल्याणकारी योजनाओं की शुरुआत की और कई लिखा किसानों और उनकी समस्याओं और परेशानियों  पर पुस्तकें राष्ट्र के किसानों के जीवन को बेहतर बनाने के लिए विभिन्न समाधानों को दर्शाती हैं।

इसलिए सरकार ने 2001 में चरण सिंह की जयंती को किसान दिवस के रूप में मनाने का फैसला किया। चौधरी चरण सिंह ने प्रसिद्ध नारे – “जय जवान जय किसान” का अनुसरण किया, जो भारत के दूसरे प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री द्वारा किसानों को दिया गया था। तो चलिए अब हम अगले टॉपिक में किसान दिवस से जुड़ी कुछ और जानकारी को प्राप्त करते है।

किसान दिवस कैसे मनाए (How to celebrate farmers day)

National Farmers Day today: All you need to know about the significance of  Kisan Diwas | India News | Zee News

राष्ट्रीय किसान दिवस मनाने का सबसे अच्छा तरीका यह है कि आप न केवल इस दिन बल्कि  साल के हर एक दिन हर किसानों के प्रति अपना आभार व्यक्त करें। खेती, इस्तेमाल की जाने वाली तकनीकों और फसल की खेती के बारे में विस्तार से जानें।

फसल की खेती की पुरानी पद्धति के बारे में जानने का यह सबसे अच्छा और सही समय है। यदि आपके बगीचे, खेत, खलिहान या जमीन में बहुत कम जगह है, तो अपने घरेलू उपयोग के लिए सब्जियों और फलों की खेती करने का प्रयास करें। अपने क्षेत्र के किसान का समर्थन करने के लिए और उत्साह बढ़ाने के लिए  स्थानीय रूप से उगाए गए कृषि खाद्य पदार्थ खरीदें।

किसानों की सराहना की जानी चाहिए, और यह वास्तव में किसी के लिए भी जरूरी है। इस दिन आप जिस किसान को जानते हैं, उन्हें इस बात के लिए धन्यवाद दें।

  • कृषि के विशेषज्ञ, किसान दिवस के इस दिन किसानों को नवीनतम तकनीक और रुझानों के बारे में मार्गदर्शन करते हैं जिससे वे अपने उत्पादन को बढ़ा सकते हैं।
  • विभिन्न समुदायों ने भी किसानों के लिए आयोजन संगठित किया और कार्यशालाएँ जो किसानों को उत्पादन बढ़ाने के विचारों और तरकीबों से लैस करती हैं और दोस्तों हम आपको बता दें कि हमारे देश के सभी राज्यों में से, उत्तर प्रदेश राज्य किसान के इस त्यौहार को सबसे अधिक खुशी से मनाता हैं
  • न्यूनतम समर्थन के साथ चरम मौसम की स्थिति में सारे किसानों के कठिन और महत्वपूर्ण योगदान के लिए, यह हमारा नैतिक कर्तव्य बन जाता है कि हम उन सारे किसान भाइयों को  धन्यवाद दें और कृषि में नवीनतम रुझानों के बारे में सारे किसानों को जागरूक करने की दिशा में काम करें।
  • स्थानीय किसानों का समर्थन करें।  इसके लिए आप एक किसान के बाजार से फल और सब्जियां खरीदें। और हम आपको बता दें कि स्थानीय किसानों का समर्थन करने का एक और  सरल तरीका सहकारी खेती में निवेश करना है।
  • अपने खेतों को चुनें। ये फार्म न केवल ताजे सब्जियां और फल प्रदान करते हैं बल्कि हाथों से कटाई का अनुभव भी प्रदान करते हैं। जब आप उपकरण का उपयोग नहीं कर रहे हैं, तो आपको परिवार और दोस्तों के साथ दोपहर मे खेती करने का आनंद लेने का मौका मिलेगा। यह कृषि का काम एक शैक्षिक अनुभव भी है।
  • कद्दू पैच पर अन्य मजेदार और शैक्षिक कृषि अनुभव पाए जाते हैं। ये खेत सेटिंग्स अक्सर स्थानीय रूप से उगाई जाने वाली शरद ऋतु की उपज से भरपूर गतिविधियों की एक विस्तृत विविधता प्रदान करती हैं। जब आप अपने किसानों भाइयों के लिए अपना समर्थन दिखाते हैं, तो आप अपने समुदाय का भी समर्थन करते हैं।
  • आप किसान दिवस मनाने के लिए आप अपने स्थानीय छोटे शहरों के ऐतिहासिक समाजों का दौरा करें। वे न केवल शहर के इतिहास को दर्ज करते हैं, बल्कि इसके साथ उन किसानों का इतिहास भी दर्ज करते हैं जिन्होंने छोटे शहर अमेरिका की नींव बनाने में मदद की।
  • धन्यवाद करते हुए किसान दिवस मनाने का एक तरीका है, खेती के बारे में अधिक जानने के लिए इन अवसरों पर विचार करें। ये अक्सर कृषि जीवन के भोजन और संस्कृति को प्रदर्शित करते हैं। त्योहारों का समर्थन करके, आप किसान और उनके समुदायों का भी समर्थन कर रहे हैं।

Mahatma Gandhi biography in Hindi

किसान दिवस मनाने का उद्देश्य

Farmers Day 2020: History & significance, quotes & messages of Kisan Diwas  - Oneindia News

दोस्तों जैसा कि हम लोग जानते हैं कि हमारे देश में बहुत सारे लोग हैं जो कि किसानों को बारे में और किसानों के दिक्कतों के बारे में कुछ भी नहीं जानते हैं लेकिन यह जानना काफी आवश्यक है कि किसान हमारे लिए कितना कुछ करते हैं और उन्हीं की वजह से आज हम खाना भी खा पाते हैं। लेकिन किसानों को इतना ज्यादा मेहनत करने के बाद भी उनकी मेहनत की पैसा नहीं मिलता है और उनको अपना आनाज बहुत कम दाम में बेचना पड़ता है।

और काफी किसान ऐसे हैं जिनकी पैदावार अच्छी नहीं हो पाती है और वह खेती से अपना घर भी नहीं चला पा रहे हैं इसलिए किसान दिवस के मौके पर एक समारोह किया जाता है और इन मुद्दों के बारे में लोगों को शिक्षित करने पर काम करते हैं, और कृषि क्षेत्र की नवीनतम शिक्षाओं के साथ किसानों को खुद को सशक्त बनाने पर भी ध्यान केंद्रित करते हैं।

भारत मुख्य रूप से गांवों की भूमि है और जैसा कि हम लोग जानते ही हैं कि भारत के अधिकांश आबादी गांवों मे रहने वाले किसान हैं जिनकी आय और जीविका का मुख्य स्रोत कृषि है। हालांकि, इतने सारे लोगों के लिए जीवन का सबसे प्रमुख साधन होने के बावजूद, काफी सारे लोग किसानों की समस्याओं से अवगत नहीं हैं।

इसीलिए हमारे देश में साल में एक बार किसान दिवस मनाया जाता है और इस किसान दिवस पर कई बहस, चर्चा, मंच, प्रश्नोत्तरी और प्रतियोगिताएं आयोजित की जाती हैं। और इस प्रतियोगिताएं मे खेती और किसानों से संबंधित विभिन्न मुद्दे पर चर्चा किया जाता है और उनको बेहतर बनाने का कोशिश किया जाता है। तो चलिए अब हम अगले टॉपिक में किसान दिवस से जुड़ी कुछ और जानकारी को प्राप्त करते है।

2021 में किसान दिवस कब मनाया जा रहा है? (National Farmers Day 2021 Date)

दोस्तों जैसा कि हर साल राष्ट्रीय किसान दिवस 23 December मनाया जाता है वैसे ही इस साल 2021 में  राष्ट्रीय किसान दिवस को 23 दिसंबर को मनाया जाएगा। और दोस्तों हम आपको बता दें कि इस साल के राष्ट्रीय किसान दिवस के समारोह का आयोजन पूरे देश में शुरू हो गया है खासकर उत्तर प्रदेश राज्य की सरकार ने प्रति वर्ष की भांति इस वर्ष भी इस दिवस को मनाने की एक विशेष रूपरेखा तैयार की हैं,और 23 दिसम्बर को अवकाश घोषित किया हैं । 

इस किसान दिवस दिन किसानों भाइयों के हितों की आवाज़ उठाने वाले सभी नेताओं और मंत्रियों को सम्मानित किया जाएगा, ग्रामीण क्षेत्रों के विकास और कृषि के लिए बहुत सारे कार्यक्रम और योजनाओं जैसे प्रदर्शनी, सेमिनार, और वर्कशॉप आयोजित किये जायेंगे.

कृषि सम्बंधित अधिकारी और वैज्ञानिक किसानो से संवाद करेंगे, जिसमें  बहुत सारी कृषि आधारित योजनाओं और नई-नई जानकारियाँ किसानों को समझाई जाएगी और बताइए जाएगी और उनकी कृषि से जुड़ी और उनकी फसल से जुड़ी सारी  समस्याओं का निराकरण करने के उपाय भी बताए जाएंगे.

साल 2022 में राष्ट्रीय किसान दिवस कब है? (National Farmers Day 2022 Date)

दोस्तों जैसे कि हमने ऊपर के टॉपिक में किसान दिवस से जुड़ी कुछ जानकारी को प्राप्त किया और उसके बारे में जाना तो आपके मन में यह ख्याल जरूर आया होगा कि आखिर 2022 में किसान दिवस कब मनाया जाएगा तो दोस्तों हम आपके जानकारी बता दें कि हर साल की तरह इस साल यानी कि 2022 में भी राष्ट्रीय किसान दिवस 23 December को ही पूरे भारत में मनाया जायेगा।

और इस दिन पूरे किसान भाइयों का समस्या का दूर करने के लिए योजनाएं और  तकनीकी को किसानों के मदद लिए लाया जाएगा। और किसानों के कृषि और फसल में आने वाले हर एक समस्याओं को बहुत सारी कृषि आधारित योजनाओं और नई-नई जानकारियाँ किसानों को समझाई जाएगी और बताइए जाएगी और उनकी कृषि से जुड़ी और उनकी फसल से जुड़ी सारी  समस्याओं का निराकरण करने के उपाय भी बताए जाएंगे.

(निष्कर्ष,Conclusion)

दोस्तों आप से मैं आशा करता हूं आपको मेरा यह  लेख राष्ट्रीय किसान दिवस 2022 निबंध, महत्व एवं कविता आपको बेहद पसंद आया होगा और आप इस लेख के मदद से वह सभी जानकारी को पूरे विस्तार से प्राप्त कर चुके होंगे जिसके लिए आप हमारे वेबसाइट पर आए थे।

दोस्तों हमने इस लेख में सरल से सरल भाषा का उपयोग करके आप को किसान दिवस से जुड़ी सभी जानकारी को बताने की कोशिश की है क्योंकि हमें मालूम है कि भारत में आज भी किसानों पर उतना ज्यादा ध्यान नहीं दिया जा रहा है । 

और कई सारे लोग ऐसे हैं जो जानना चाहते हैं कि आखिर हमारे भारत में किसान दिवस कब मनाया जाता है और इस किसान दिवस के अवसर पर क्या-क्या किया जाता है और किस तरह से किसान दिवस को मनाया जाता है तो हम सभी ने मिलकर के इन सभी लोगों के लिए ही इस लेख को लिखा था।

इस लेख में हम ने जितने भी चीजों को बताया है उन सभी चीजों पर हमने काफी ज्यादा रीसर्च करके आपको बताया है और इतनी आसान भाषा में लिखा है कि कोई भी छोटा बच्चा या बड़ा बुजुर्ग इस लेख को काफी आसानी से समझ सकता है और आप पर मेरा संपूर्ण विश्वास है कि आप भी मेरे इस लेख को ध्यान से पूरे अंत तक पढ़ चुके होंगे और किसान दिवस से जुड़ी सभी जानकारी को प्राप्त कर चुके होंगे।

अगर दोस्तों आपको इस पोस्ट में कहीं भी कोई भी किसी भी तरह को,पढ़ने में या किसी भी चीज में कोई भी दिक्कत हुई होगी तो आप हमारे कमेंट बॉक्स में बेझिझक कुछ भी सवाल पूछ सकते हैं।

हमारी समूह आपकी मैसेज के रिप्लाई जरूर देगी और आप यह भी कमेंट में जरूर बताएं कि यह पोस्ट राष्ट्रीय किसान दिवस 2022 निबंध, महत्व एवं कविता के बारे में जानकारी आपको कैसा लगा ताकि हम आपके लिए दूसरे पोस्ट ऐसे ही लाते रहे।

तो चलिए दोस्तों इसी जानकारी के साथ हम अब इस लेख को समाप्त करते हैं और अगर आपको हमारा यह पोस्ट को पढ़ने के लिए दिल से धन्यवाद………😊

Previous articleNathuram Godse Biography in Hindi
Next articleOnline free me Logo Kaise banaye | Logo कैसे बनाएं