इंट्राडे trading क्या है इसके बारे में जाने.

अगर आप भी share मार्केट के फील्ड में एक नए युवा हैं और share मार्केट के बारे में एक अच्छी जानकारी रखते हैं तो आपने कभी न कभी इंट्राडे trading के बारे में जरूर सुना होगा और आपके मन में जरूर प्रश्न उठा होगा की intraday trading kya hai? तो दोस्तों यदि आप इंट्राडे trading के बारे में जानना चाहते हैं और यह जानना चाहते हैं कि intraday trading kaise kare? तो आप इस पोस्ट को अंत तक पढ़ें ताकि आपको इसके के बारे में एक अछि जानकारी मिल जाए।

दोस्तों यदि आप intraday trading करके पैसा कमाना चाहते हैं तो सबसे पहले आप trading को अच्छे से समझे उसके बाद जाकर आप इसमें अपना काम करें क्योंकि अक्सर देखा गया है कि बिना जानकारी के लोग जब इसमें trading करना चालू करते हैं तो 90 से 95% चांस है कि उनका पैसा डूब जाता है।

इसलिए कहा जाता है कि जब कोई भी काम करें तो उसके बारे में एक पूर्ण जानकारी ले ताकि वह काम कैसा है तथा हमें इस काम को किस प्रकार करना है उसके बारे में जानकारी हो जाये ताकि उससे कोई घाटा न सहना पड़े।

इंट्राडे trading क्या है-What is intraday trading

दोस्तों जब कोई स्टॉक मार्केट से किसी भी share को एक ही दिन के अंदर buy और sell किया जाता है तो उस  trading को हम intraday trading kehte hain.

इसमें ऐसा होता है कि आप same day के अंदर कोई share खरीदते हैं और same day के अंदर ही sell देते हैं यानी जब मार्केट चालू होता है तब आप ब्रोकर से share खरीदते हैं तथा मार्केट को बंद होने से पहले उस share को ब्रोकर को sell कर देते हैं।

“भारत में  स्टॉक मार्केट छुट्टियों को छोड़कर सोमवार से शुक्रवार सुबह 9:00 बजे से शाम 3:30 बजे तक खुला रहता है इस समय को हम trading टाइम भी कहते हैं”

इंट्राडे trading कैसे शुरू करें-how to start intraday trading

मैंने इसके बारे में ऊपर भी चर्चा की जब भी आप कोई काम करने जाएं तो आप उसके बारे में पूरी जानकारी ले ताकि उस काम को समझने में आसानी हो सके 

देखा जाए तो हम इंट्राडे में trading करने का काम शुरू करना चाहते हैं, तो हमको इंट्राडे को समझना होगा ताकि हम उसमें अच्छे से trading कर सकें तो आइए हम आप कुछ स्टेप बताते हैं इसे फॉलो करते हुए आप इंट्राडे trending की शुरुआत कर सकते हैं।

trading को अच्छे से  समझे-understand trading well

दोस्तों जब भी आपके इंट्राडे trading में हाथ डाले तो आप trading को बहुत बारीकियों से समझे trading चार्ट को एनालाइज करें तथा उसे पढ़ें देखेंगे की कैसे share बेचा जाता है और खरीदा जाता है कैसे अच्छे से अच्छा share ढूंढा जाता है मतलब मेरे कहने का यह है कि आप trading से पहले पढ़े कैसे share का प्राइस बढ़ रहा है कैसे share का प्राइस घट रहा है

इसके लिए आप कई तरह के trading सॉफ्टवेयर का यूज कर सकते हैं ऐसे सॉफ्टवेयर में आपको चार्ट के द्वारा दिखाया जाता है कि share का प्राइस कैसे बढ़ रहा है कैसे घट रहा है।

डीमैट अकाउंट खोलें-open demat account

जब आप trading को अच्छे से समझ जाएं तब बात आती है trading करने की तो ट्रेंडिंग तो आप ऑनलाइन करेंगे और आपको trading के लिए एक डीमैट अकाउंट होना जरूरी है तो आप एक अच्छा सा demat account khole. 

आइए  हम आपको कुछ डीमैट अकाउंट के बारे में जानकारी देते हैं तथा उनके ब्रोकरेज चार्ज के बारे में भी आपको बताते हैं।

BrokersAccount Opening ChargeAccount Maintenance ChargeEquity Delivery BrokerageEquity Intraday Brokerage
Zerodha30030000.03%
Upstox2493000.025%0.05%
Angel One024000.25%
Groww000.05%0.05%

ICICI Direct
07000.55%0.05

इंट्राडे trading से लाभ-profit from intraday trading

इंट्राडे trading में यह है कि आप 1 दिन में जो पैसा इन्वेस्ट करते हैं वह पैसा का जो लाभ होता है वह एक ही दिन में ही मिल जाता है और आपका ट्रेड क्लियर हो जाता है तथा इसमें आपको कम ब्रोकरेज चार्ज भी लगता है।

इंट्राडे trading जब आप करते हैं तो आप मार्केट को बढ़ते हुए भी पैसे कमा सकते हैं और मार्केट को गिरते हुए भी पैसे कमा सकते हैं।

इंट्राडे trading से हानि-loss from intraday trading

इंट्राडे trading करना बहुत ही रिस्की होता है यदि आपको मार्केट ज्ञान नहीं है और आप इसी बीच में trading करने लगते हैं तो बहुत चांस है कि आपका पैसा इस मार्केट में डूब जाएगा।

यदि आपको trading तथा share मार्केट का एक अच्छा ज्ञान नहीं है तो आप भूल कर भी  इंट्राडे में  trading ना करें।

इंट्राडे में कितने प्रकार की trading होती है-type of intraday trading.

इंट्राडे में मुख्यतः दो प्रकार की trading होती है जो कुछ इस प्रकार है।

  1. Long Term Trading
  2. Short Selling Trading

तो आइए हम इन दोनों trading को जानते हैं कि या trading क्या होती है।

  1. Long Term Trading :- लोंग इस trading में पहले किसी  share को buy करते हैं और उस share का प्राइस ज्यादा होने पर उस share को sell कर देते हैं।

उदाहरण:- मान लीजिए आपने किसी कंपनी का ₹100 प्रति share से 1000 share खरीदा तथा कुछ समय बाद उस कंपनी का share ₹105 होने पर उस कंपनी को वह share सेल कर दिया तो आपको इस trading में कुल फायदा 5000 रुपए का हो गया 

  1. Short Selling Trading :- इस trading में आप सबसे पहले share को sell कर देते हैं तथा share का प्राइस कम होने पर उस share को buy  कर लेते हैं।

उदाहरण:-   आप किसी ब्रोकर से share उधार लेते हैं तथा उस शेर को बेच देते हैं और share का कम प्राइज होने पर उस share को buy करके उस ब्रोकर को दे देते हैं।

मान लीजिए आप किसी कंपनी का ₹100 प्रति share किसी ब्रोकरेज से उधार लेकर 1000 share को sell कर दिया और जब उस share का प्राइस कम हुआ मतलब जब उस share का प्राइस ₹90 हो गया तब आपने  उस कंपनी का 1000 share खरीदा और उस ब्रोकर को दे दिया तो इस trading में आपको  कुल फायदा 10000 का हो गया।

Mutual Fund Kya Hai

अंतिम शब्द 

दोस्तों आज के इस पोस्ट में हम आपको इंट्राडे के बारे में जो जानकारियां प्रदान की  मैं आशा रखता हूं कि यह जानकारी आपके लिए एक लाभप्रद जानकारी सिद्ध हुई होगी यदि आपको हमारा यह पोस्ट पसंद आया है तो अपने दोस्तों में शेयर करें तथा इससे संबंधित कोई भी सुझाव आपके मन में हो तो हमें कमेंट बॉक्स में जरूर दें.

Previous articleSwing Trading क्या है. Swing Trading कैसे करे?
Next articleFree Fire: Gift Of Light Event

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here